जब शाहरुख़ से लोगों ने कहा तुम हीरो नहीं बन सकते

  • 27 नवंबर 2018
इमेज कॉपीरइट Red Chillies Entertainment

जल्द रिलीज़ होगी शाहरुख की फ़िल्म 'ज़ीरो'. अब 'ज़ीरो' का मतलब क्या है ? शाहरुख ने बताया उस वक़्त के बारे में जब कहीं का कहीं एक्टिंग के मामले में उनको 'ज़ीरो' जैसा माना गया था.

शाहरुख की फ़िल्म 'ज़ीरो' में इनके साथ हैं अनुष्का शर्मा और कटरीना कैफ़ . शाहरुख ने बताया , "लोगों ने कहा तुम्हारी नाक खराब है, लंबे नहीं हो, साँवले हो, बोलते तेज़ हो, तुम हीरो नहीं बन सकते. लेकिन मुझे एक्टिंग करनी थी. मुझे शौक था और मैं मार नहीं सकता उस शौक को, कुछ भी करलूंगा. मुझे लगता है आजकल हम बहुत जजमेंटल हैं. सोशल मीडिया पर ऐसे लोग हैं जो बस इंतज़ार कर रहे हैं कि आपको ये बताए कि आप कितने खराब हो. "

विलन बना हीरो

इमेज कॉपीरइट Red Chillies Entertainment

शाहरुख ख़ान ने 'डर' और 'बाज़ीगर' जैसी फ़िल्मे अपने करियर के शुरुआत में ही की. इन फ़िल्मों में उनका किरदार नेगेटिव थे . उसके बाद उन्होंने कुछ रोमांटिक फ़िल्मों में काम किया लेकिन फ़िल्में नहीं चली .उसके बाद आई 'दिलवाले दुल्हनियां ले जाएँगे' और उसके बाद सब बदल गया. शाहरुख की बहुत सी फ़िल्में बड़ी-बड़ी हिट्स रहीं और इन्हें 'बादशाह' कहा गया .

शाहरूख एक छोटे कद के लड़के का किरदार निभा रहे हैं

बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख़ ख़ान नवंबर में 53 साल के हो गए. इस मौक़े पर उन्होंने अपनी आगामी फ़िल्म "ज़ीरो" का ट्रेलर लॉन्च भी किया था. इस फ़िल्म के ट्रेलर लॉन्च पर शाहरुख़ ने बताया कि उनके किरदार को रचने के लिए बहुत एडवांस्ड विज़ुअल इफेक्ट्स का इस्तेमाल किया गया है और इसे बनाने में दो साल का वक्त लगा है.

निर्देशक आनंद एल राय की इस फिल्म में कई तरह के विजुअल इफेक्ट्स का इस्तेमाल किया गया है, जिसका काम शाहरुख़ की कंपनी रेड चिलीज़ वीएफएक्स के पास है.

इमेज कॉपीरइट Red Chillies Entertainment

पहले भी फ़िल्मों में विजुअल इफेक्ट्स के ज़रिए छोटे को बड़ा और बड़े को छोटा दिखाया जाता रहा है. 'जानेमन' फ़िल्म में अनुपम खेर और 'अप्पू राजा' फ़िल्म में कमल हसन भी बौने शख्स का किरदार निभा चुके हैं. 'अप्पू राजा' में कमाल हासन का डबल रोल था .

फ़िल्म के मुख्य किरदारों की बात करें तो शाहरुख़ खान, अनुष्का शर्मा, कैटरीना कैफ, अभय देओल, तिग्मांशु धुलिया नज़र आने वाले हैं . शाहरुख़ खान, कटरीना कैफ़ और अनुष्का शर्मा की जोड़ी इससे पहले यश चोपड़ा की आखिरी फ़िल्म "जब तक है जान " में नज़र आई थी.

ज़ीरो क्या है ?

शाहरुख़ ख़ान ने बताया ,"ये निर्भर करता है आप कैसे देखते हैं , क्या आप इससे शून्य की तरह देखते हैं या किसी ऐसे चीज़ की तरह जो पूरी होती है. फ़िल्म में मेसेज ये है कि कोई कमी हमेशा शून्य नहीं बल्कि ऐसी चीज़ है जो कंप्लीट होती है. इस फ़िल्म में आपको ऐसी दिक्कतें दिखेंगी जो सबके साथ होती हैं. आप रिलेट करोगे, " फ़िल्म दिसंबर 2018 में रिलीज़ होगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे