T Series Vs PewDiePie: क्या यूट्यूब पर टी-सिरीज़ बादशाह बन पाएगा

  • 25 दिसंबर 2018
टी सीरीज की यूट्यूब पर बादशाहत, कटरीना कैफ इमेज कॉपीरइट T-Series

टी सिरीज़ के प्रमुख भूषण कुमार का कहना है कि वो कुछ महीने पहले तक प्यूडाईपाई को नहीं जानते थे.

उन्हें उसके बारे में तब पता चला तब उन्होंने उनकी कंपनी को यूट्यूब पर सब्सक्राइबर के मामले में पीछे छोड़ा.

प्यूडाईपाई स्वीडन के यूट्यूबर हैं, जिनका असल नाम फीलिक्स कियलबर्ग है. वो कॉमेडी, गेम कमेंट्री, म्यूजिक और रिएक्शन वीडियो के लिए दुनिया भर में जाने जाते हैं.

यूट्यूब पर इनके चैनल के करीब 7.8 करोड़ सब्सक्राइबर हैं. वहीं टी सिरीज़ को यूट्यूब पर 7.7 करोड़ लोगों ने सब्सक्राइब कर रखा है.

यूट्यूब पर नंबर वन चैनल के मामले में पहले टी सिरीज़ की बादशाहत थी, जिसे प्यूडाईपाई ने ख़त्म कर दिया है.

भूषण कुमार कहते हैं, "हम इस नंबर वन की रेस को लेकर चिंतित नहीं हैं. मुझे नहीं मालूम कि प्यूडाईपाई इस मामले को इतनी संजीदगी से क्यों ले रहे हैं. वो खुद को प्रोमोट करने, आगे बढ़ाने के लिए अपने लोगों का समर्थन पा रहे हैं. हमलोगों का उनसे कोई कॉम्पीटिशन नहीं है."

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption प्यूडाईपाई के चैनल के करीब 7.8 करोड़ सब्सक्राइबर हैं

यूट्यूब से हर साल करीब 100 करोड़ रूपए कमाता है टी सिरीज़

प्यूडाईपाई उस वक़्त विवादों में आए थे जब उन्होंने एक वीडियो में नाज़ियों की चर्चा की थी. यह वीडियो यहूदियों के ख़िलाफ़ समझा गया था. बाद में उन्होंने इस वीडियो के लिए माफी भी मांगी थी.

उनका चैनल आठ साल पुराना है.

टी सीरीज़ 35 साल पुरानी कंपनी है जो फ़िल्म निर्माण और म्यूज़िक के बिजनेस में है. कंपनी की सालाना आय करीब 700 करोड़ रुपए है, जिसका 15 फ़ीसदी हिस्सा यूट्यूब से आता है.

मुंबई के बीचों-बीच कंपनी का सात मंज़िला हेडक्वार्टर बिल्डिंग है, जहां 13 लोगों की टीम इनके यूट्यूब चैनल चलाती है.

इमेज कॉपीरइट Kannagi Khanna
Image caption भूषण कुमार

हर रोज़ औसतन 1.6 लाख लोग सब्सक्राइब करते हैं टी सिरीज़

प्यूडाईपाई और टी सिरीज़ के यूट्यूब चैनल हॉलीवुड के बड़े-बड़े कलाकारों के चैनलों से कहीं आगे हैं.

सोशलब्लेड वेबसाइट के मुताबिक टी सीरीज़ को हर दिन करीब 1.6 लाख लोग सब्सक्राइब करते हैं. वहीं प्यूडाईपाई के सब्सक्राइबर में हर दिन औसतन 1.4 लाख का इजाफा हो रहा है.

प्यूडाईपाई के प्रशंसकों पर कई बड़े वेबसाइट को हैक करने के आरोप हैं. वो इन्हें हैक कर अपने यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने का संदेश उनके पाठकों को देते हैं.

ख़बरों के मुताबिक प्रशंसकों ने वॉल स्ट्रीट जर्नल को हैक कर लिया था और संदेश दिया था कि वो टी सिरीज़ की बादशाहत ख़त्म करना चाहते हैं, इसलिए उनके चैनल को सब्सक्राइब करें.

भूषण कुमार कहते हैं, "मैंने कभी अपने कलाकारों को यह नहीं कहा कि वो हमारे सब्सक्राइबर बढ़ाने के लिए अपील करें. हमलोग उस खेल में हैं ही नहीं."

वो कहते हैं कि नंबर वन बनने के विवादों से उन्हें फायदा पहुंचा है और दुनिया की नज़र अब उनके यूट्यूब चैनल पर है.

भूषण कुमार कहते हैं, "हर कोई हमसे संपर्क साध रहा है. अंतरराष्ट्रीय कलाकार हमारे साथ काम करना चाहते हैं."

इमेज कॉपीरइट T-Series

पिटबुल के साथ गुरु रंधावा

अगले महीने टी सिरीज़ गुरु रंधावा का वीडियो रिलीज करेगा. इस वीडियो में वर्ल्ड फेम सिंगर पिटबुल उनके साथ नज़र आएंगे.

इस गाने की शूंटिंग लॉस एंजिल्स में पूरी की गई है. गुरु रंधावा पंजाबी धुन गाते नज़र आएंगे और उसमें पिटबुल अंग्रेजी रैप का तड़का लगाते देखे जाएंगे.

टी सिरीज़ ने पिछले कई सालों में कई बड़े स्टार बनाए हैं, उनमें से गुरु रंधावा एक हैं. उनके गानों की शूटिंग विदेशी लोकेशन पर बहुत ही महंगे तरीके से की जाती है.

इमेज कॉपीरइट T-Series

टी सिरीज़ का शुरुआती सफर

टी सिरीज़ की स्थापना भूषण कुमार के दिवंगत पिता गुलशन कुमार ने साल 1983 में की थी.

म्यूज़िक इंडस्ट्री में एक बड़ा नाम बनने से पहले वो फलों के जूस बेचा करते थे. उन्होंने भक्ति के गानों का संभावित बाज़ार समझा और इसे रिकॉर्ड करना और बेचना शुरू कर किया.

गुलशन कुमार की हत्या साल 1997 में एक मंदिर के बाहर कर दी गई थी.

कंपनी के कुछ कर्मचारी बताते हैं कि गुलशन कुमार को यह बात समझ आ गई थी कि देश के वृद्ध लोग आंखों की रोशनी कमज़ोर होने की वजह से धार्मिक किताबें पढ़ कर गा नहीं सकते.

इसके लिए उन्होंने गायकों से वो चौपाई और गीत गवाने शुरू किए और उसे सस्ते में बेचने लगे.

टी सिरीज़ के कैसेट अन्य कंपनी के कैसेट से एक-तिहाई सस्ते होते थे. इसके बाद वो धार्मिक स्थलों के वीडियो बनाने लगे. उनका मकसद था कि वो लोग जो पैसों की किल्लत से धार्मिक यात्राओं पर नहीं जा पाते हैं, वो वीडियो देख सकें.

इस तरह कंपनी ने ऑडियो से वीडियो की ओर रुख किया. 1990 में आई फ़िल्म 'आशिकी' कंपनी का पहला हिट म्यूजिक एलबम था.

इमेज कॉपीरइट T-SERIES

2011 में यूट्यूब पर दस्तक

यू ट्यूब पर टी सिरीज़ ने अपनी उपस्थिति साल 2011 में फ़िल्म 'पटियाला हाउस' के एक गाने से दर्ज की थी.

सात साल बाद इस कंपनी के यू ट्यूब पर कुल 28 चैनल हैं, जो नौ भारतीय भाषाओं में मनोरंजक सामग्रियाँ परोस रहे हैं.

कंपनी यू ट्यूब पर न सिर्फ फ़िल्मी गाने और वीडियो अपलोड करती है बल्कि बच्चों और स्वास्थ्य से जुड़े दूसरे वीडियो भी पेश कर रही है.

इसमें कोई शक नहीं है कि टी सीरीज़ के पास दुनिया की बड़ा म्यूज़िक और वीडियो बैंक उपलब्ध है.

कंपनी के पास 1.60 लाख गाने, 55 हज़ार म्यूज़िक वीडियो हैं. कंपनी का लक्ष्य बॉलीवुड का सबसे बड़ा प्रोडक्शन हाउस बनने का है.

अगले साल कंपनी के बैनर तले रिकॉर्ड 21 फ़िल्मों का निर्माण किया जाएगा.

भूषण कुमार बताते हैं, "कभी कभार हमलोग दिन भर में दो वीडियो यूट्यूब पर डालते हैं."

यूट्यूब पर टी सिरीज़ के वीडियो को 5.5 हज़ार करोड़ बार देखा गया है. चैनल को आधे से ज्यादा भारत के लोग देखते हैं. उसके बाद पाकिस्तान और खाड़ी के देशों में भी इनके दर्शक हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार