पीएम मोदी से फ़िल्म इंडस्ट्री के लोगों को किसने और क्यों मिलवाया

  • 11 जनवरी 2019
वायरल फ़ोटो इमेज कॉपीरइट Hype PR
Image caption कुछ लोग इस तस्वीर को 'सेल्फ़ी ऑफ़ 2019' भी कह रहे हैं

गुरुवार सुबह दिल्ली में बॉलीवुड के कुछ चुनिंदा कलाकारों के साथ हुई प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मुलाक़ात की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर बहुत वायरल हुई.

फ़िल्म इंडस्ट्री के लोगों के अलावा पीएम मोदी ने भी इस फ़ोटो को इंस्टाग्राम पर पोस्ट किया, जिसे अब तक 22 लाख से ज़्यादा लोग लाइक कर चुके हैं.

लेकिन सोशल मीडिया पर इस फ़ोटो की एक फ़र्ज़ी कॉपी भी काफ़ी शेयर की गई है. इस फ़र्ज़ी फ़ोटो में कुछ फ़िल्मी सितारों के माथे पर 'जय श्री राम' लिखा दिखता है.

फ़ेसबुक पर कई बड़े क्लोज़ ग्रुप्स में और व्हॉट्सऐप पर ये तस्वीर इस दावे के साथ पोस्ट की गई है कि 'बॉलीवुड के लोगों ने पीएम मोदी के सामने अयोध्या में राम मंदिर बनवाने की माँग रखी'.

इमेज कॉपीरइट SM VIRAL IMAGE

कुछ लोगों ने ट्विटर और फ़ेसबुक पर बॉलीवुड के इस प्रतिनिधिमंडल में किसी भी 'ख़ान' के शामिल नहीं होने पर हैरानी जताई तो कुछ लोगों ने ये भी लिखा है कि 'राम मंदिर पर चर्चा के लिए पीएमओ से सिर्फ़ हिंदू कलाकारों को बुलाया गया था'.

इन दावों में कितना दम है? मीटिंग में कौन-कौन लोग थे? और किसने ये मीटिंग करवाई? ये जानने के लिए हमने इस मीटिंग में शामिल हुए कुछ कलाकारों से बात करने की कोशिश की.

इमेज कॉपीरइट HypePR

मीटिंग की वजह

मुंबई में मौजूद बीबीसी की सहयोगी मधु पाल को फ़िल्ममेकर करण जौहर की टीम ने इस मुलाक़ात का कारण बताया.

उन्होंने कहा, "ये ख़ास मुलाक़ात भारतीय संस्कृति और समाज पर पड़ रहे सिनेमा के प्रभाव पर चर्चा के लिए हुई थी. पीएम मोदी ने इस बारे में बात की कि कैसे मनोरंजन की मदद से देश में सुधार किये जा सकते हैं."

करण जौहर की टीम ने कहा, "मीटिंग में फ़िल्म इंडस्ट्री के लोगों ने पीएम मोदी से जीएसटी के बारे में भी बात की. साथ ही कुछ नए आइडिया रखे गए जिनपर फ़िल्म इंडस्ट्री भविष्य में काम करेगी."

फ़िल्म निर्माता एकता कपूर, अभिनेता राजकुमार राव, आयुष्मान खुराना और सिद्धार्थ मल्होत्रा के अनुसार ये मीटिंग अच्छी रही और उन्हें नए कलाकारों के प्रति पीएम मोदी का रवैया पसंद आया.

लेकिन करण जौहर की टीम ने स्पष्ट रूप से इस मुलाक़ात में राम मंदिर या अन्य किसी राजनीतिक मुद्दे पर चर्चा की बात को अफ़वाह बताया.

रणवीर सिंह ने पीएम मोदी के साथ अपनी फ़ोटो को 'जादू की झप्पी' कैप्शन दिया है.

बॉलीवुड के लोगों का ये प्रतिनिधिमंडल गुरुवार सुबह एक विशेष विमान से दिल्ली पहुँचा था. एकता कपूर ने इस यात्रा की कुछ तस्वीरें भी सोशल मीडिया पर पोस्ट की हैं.

मीटिंग के 'सूत्रधार'

बताया गया कि इस वायरल सेल्फ़ी फ़ोटो में सबसे कम स्पेस ले रहे फ़िल्म निर्माता महावीर जैन और मौलिक भगत ही इस मीटिंग के सूत्रधार थे जिन्होंने करण जौहर की मदद से इन सभी कलाकारों को मीटिंग के लिए बुलाया.

महावीर जैन और मौलिक भगत, दो ऐसे लोग हैं जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ हुई बॉलीवुड के लोगों की पिछली दो आधिकारिक मुलाक़ातों में भी शामिल थे.

इमेज कॉपीरइट Spice PR
Image caption बॉलीवुड के लोगों से पीएम मोदी की पिछली मुलाक़ात के बाद सोशल मीडिया पर काफ़ी चर्चा हुई थी कि क्यों किसी महिला कलाकार को इस मीटिंग में शामिल नहीं किया गया

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ मौलिक भगत गुजरात के अहमदाबाद शहर में स्थित एक सॉफ़्टवेयर व मीडिया फ़र्म के मालिक हैं जिन्हें नरेंद्र मोदी का 'क़रीबी' बताया जाता है.

मौलिक भगत के अनुसार वो गुजरात में नरेंद्र मोदी के मुख्यमंत्री रहते हुए उनके राजनीतिक ऑनलाइन और सोशल मीडिया कैंपेन के संयोजक रह चुके हैं.

'फ़ैक्ट चेक' की अन्य कहानियाँ:

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार