ज़ायरा वसीम की फ़िल्म इंडस्ट्री में वापसी का सच: फ़ैक्ट चेक

  • 13 सितंबर 2019
फ़िल्म कंपनी इमेज कॉपीरइट Getty Images/RSVP

'दंगल' फ़िल्म के लिए 'बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर' का राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार जीत चुकीं ज़ायरा वसीम के बारे में सोशल मीडिया पर यह दावा किया जा रहा है कि 'ज़ायरा ने फ़िल्म इंडस्ट्री फिर से जॉइन कर ली है और फ़िलहाल वो अपनी फ़िल्म 'द स्काय इज़ पिंक' के प्रमोशन में लगी हुई हैं. जबकि कुछ महीने पहले ही उन्होंने अपने धर्म और अल्लाह के लिए फ़िल्मी दुनिया छोड़ने का ऐलान किया था'.

फ़िल्म-निर्माता रॉनी स्क्रूवाला और सिद्धार्थ रॉय कपूर ने हाल ही में अपनी अपकमिंग फ़िल्म 'द स्काय इज़ पिंक' का पोस्टर रिलीज़ किया था जिसके बाद से ज़ायरा वसीम को लेकर यह दावा किया जा रहा है.

इमेज कॉपीरइट Tree-Shul-MEDIA

इस पोस्टर में प्रियंका चोपड़ा, फ़रहान अख़्तर और रोहित सराफ़ के साथ ज़ायरा वसीम भी नज़र आती हैं. एक रियल लाइफ़ स्टोरी पर आधारित यह फ़िल्म 11 अक्तूबर 2019 को रिलीज़ होनी है.

फ़िल्म के इस पोस्टर के अलावा एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा ने भी हाल में एक फ़ोटो ट्वीट किया था जिसे सोशल मीडिया पर 'फ़िल्म इंडस्ट्री में ज़ायरा वसीम की वापसी' के दावे के तौर पर शेयर किया जा रहा है.

हमने पाया कि बीते कुछ दिनों में सोशल मीडिया पर लाखों ऐसे मैसेज पोस्ट किये गए हैं जिनमें ज़ायरा वसीम और उनके धर्म को निशान बनाया गया है.

इमेज कॉपीरइट SM Viral Posts
इमेज कॉपीरइट SM Viral Posts

सोशल मीडिया पर बहुत से लोगों ने यह भी दावा किया है कि फ़िल्म से जुड़े कुछ हालिया इवेंट्स में ज़ायरा वसीम ने हिस्सा लिया था.

लेकिन अपनी पड़ताल में हमने पाया कि ज़ायरा वसीम से संबंधित ये सभी दावे ग़लत हैं और फ़िल्म की पूरी टीम के साथ उनकी जो तस्वीर सोशल मीडिया पर शेयर की जा रही है, वो पुरानी है.

ज़ायरा की वापसी?

शोनाली बोस के निर्देशन में बनी फ़िल्म 'द स्काय इज़ पिंक' के प्रमोशन का काम 'ट्री-शल' नाम की एक कंपनी देख रही है.

इस कंपनी ने फ़िल्म निर्माताओं के हवाले से बीबीसी को बताया कि ज़ायरा वसीम अब तक फ़िल्म के किसी प्रमोशनल इवेंट में नहीं आई हैं और आगे भी नहीं आएंगी.

कंपनी के अनुसार मार्च से अप्रैल 2019 के बीच फ़िल्म की शूटिंग पूरी कर ली गई थी. जून के अंत में जब ज़ायरा वसीम ने फ़िल्म इंडस्ट्री छोड़ने का फ़ैसला किया था, तब से फ़िल्म की टीम का उनसे संपर्क नहीं है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption फ़िल्म निर्माता सिद्धार्थ रॉय कपूर, रॉनी स्क्रूवाला और डायरेक्टर शेनाली बोस के साथ प्रियंका चोपड़ा, रोहित सराफ़ के साथ ज़ायरा वसीम

कंपनी ने उस प्रेस रिलीज़ का भी हवाला दिया जो 'द स्काय इज़ पिंक' फ़िल्म की निर्माता कंपनी 'रॉय कपूर फ़िल्म्स' ने 1 जुलाई 2019 को जारी की थी.

इस प्रेस रिलीज़ में लिखा था, "ज़ायरा एक ज़बरदस्त कलाकार हैं जो हमारी फ़िल्म 'द स्काय इज़ पिंक' में आयशा चौधरी के किरदार में दिखेंगी. पिछले महीने फ़िल्म का काम पूरा कर लिया गया था. इस दौरान ज़ायरा ने प्रोफ़ेशनल तरीक़े से काम किया. अब जो निर्णय उन्होंने लिया है, वो उनका व्यक्तिगत निर्णय है जिसका हम पूरी तरह सम्मान करते हैं. हम हर तरह से उनका सपोर्ट करते हैं और हमेशा करते रहेंगे."

इमेज कॉपीरइट SM Viral

वायरल फ़ोटो का सच

सोशल मीडिया पर प्रियंका चोपड़ा, फ़रहान अख़्तर और रोहित सराफ़ के साथ ज़ायरा वसीम की जो फ़ोटो शेयर की जा रही है, वो फ़रवरी 2019 की है.

फ़रहान अख़्तर की टीम ने और फ़िल्म निर्माता कंपनी ने बीबीसी से इस बात की पुष्टी की है.

ये तस्वीर अंडमान-निकोबार द्वीप समूह के 'हैवलॉक आइलैंड' पर खींची गई थी जिसका नाम अब भारत सरकार ने स्वराज द्वीप कर दिया है.

वायरल फ़ोटो में फ़िल्म की पूरी टीम जिन कपड़ों में नज़र आती है, उन्हीं कपड़ों में कुछ तस्वीरें प्रियंका चोपड़ा और रोहित सराफ़ ने मार्च और फिर जुलाई 2019 में अपने इंस्टाग्राम प्रोफ़ाइल पर शेयर की थीं.

इमेज कॉपीरइट Instagram
इमेज कॉपीरइट Instagram

क्या कहकर ज़ायरा ने छोड़ी थी फ़िल्म इंडस्ट्री?

ट्विटर पर ज़ायरा वसीम ने आख़िरी ट्वीट 5 अगस्त 2019 को किया था. उसी दिन भारत सरकार ने जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद-370 को निष्प्रभावी किये जाने की घोषणा की थी.

ज़ायरा ने केंद्र सरकार के इस फ़ैसले पर लिखा था, "यह दौर भी ग़ुजर जायेगा. #Kashmir".

फ़ेसबुक पर भी उन्होंने 1 जुलाई 2019 के बाद कोई पोस्ट नहीं की है जिसमें उन्होंने लिखा था कि मेरे किसी भी सोशल मीडिया अकाउंट के हैक होने की अफ़वाह पर विश्वास न करें.

इससे पहले 30 जून 2019 की शाम एक लंबी फ़ेसबुक पोस्ट में उन्होंने लिखा था कि अपने धर्म और अल्लाह के लिए वो बॉलीवुड को अलविदा कह रही हैं.

इमेज कॉपीरइट Facebook

पढ़िए उनकी फ़ेसबुक पोस्ट के अहम हिस्से:

  • पाँच साल पहले मैंने एक फ़ैसला किया था, जिसने हमेशा के लिए मेरा जीवन बदल दिया था. मैंने बॉलीवुड में क़दम रखा और इससे मेरे लिए अपार लोकप्रियता के दरवाज़े खुले. मैं जनता के ध्यान का केंद्र बनने लगी. मुझे क़ामयाबी की मिसाल के तौर पर पेश किया गया और अक्सर युवाओं के लिए रोल मॉडल बताया जाने लगा. हालांकि मैं कभी ऐसा नहीं करना चाहती थी और न ही ऐसा बनना चाहती थी.
  • आज जब मैंने बॉलीवुड में पांच साल पूरे कर लिए हैं तब मैं ये बात स्वीकार करना चाहती हूं कि इस पहचान से यानी अपने काम को लेकर खुश नहीं हूं. लंबे समय से मैं ये महसूस कर रही हूं कि मैंने कुछ और बनने के लिए संघर्ष किया है.
  • इस क्षेत्र ने मुझे बहुत प्यार, सहयोग और तारीफ़ें दी हैं लेकिन ये मुझे गुमराही के रास्ते पर भी ले आया है. मैं ख़ामोशी से और अनजाने में अपने ईमान से बाहर निकल आई.
  • मैं लगातार संघर्ष कर रही थी कि मेरी आत्मा मेरे विचारों और स्वाभाविक समझ से मिलाप कर ले और मैं अपने ईमान की स्थिर तस्वीर बना लूं. लेकिन मैं इसमें बुरी तरह नाकाम रही.
  • क़ुरान के महान और आलौकिक ज्ञान में मुझे शांति और संतोष मिला. वास्तव में दिल को सुकून तब ही मिलता है जब इंसान अपने ख़ालिक़ के बारे में, उसके गुणों, उसकी दया और उसके आदेशों के बारे में जानता है.
  • अल्लाह कहता है, "उनके दिलों में एक बीमारी है (संदेह और पाखंड की) जिसे मैंने और ज़्यादा बढ़ा दिया है." मुझे अहसास हुआ कि इसका इलाज सिर्फ़ अल्लाह की शरण में जाने से ही होगा और वास्तव में जब मैं रास्ता भटक गई थी तब अल्लाह ही ने मुझे राह दिखाई.
  • क़ुरान और पैग़ंबर का मार्गदर्शन मेरे फ़ैसले लेने और तर्क करने की वजह बना और इसने ज़िंदगी के प्रति मेरे नज़रिए और ज़िंदगी के मायने को बदल दिया.
  • ये यात्रा थकाऊ रही है, लंबे समय से मैं अपनी रूह से लड़ती रही हूं. ज़िंदगी बहुत छोटी है लेकिन अपने आप से लड़ते रहने के लिए बहुत लंबी भी है. इसलिए आज मैं अपने इस फ़ैसले पर पहुंची और मैं अधिकारिक तौर पर इस क्षेत्र से अलग होने की घोषणा करती हूं.

(इस लिंक पर क्लिक करके भी आप हमसे जुड़ सकते हैं)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार