बॉलीवुड रैपर बादशाह ने क्यों माँगी माफ़ी?

  • 21 अक्तूबर 2019
इमेज कॉपीरइट BADSHAH TWITTER

आयुष्मान खुराना की आने वाली फ़िल्म 'बाला' एक बार फिर चर्चा में है. पहले फ़िल्म की कहानी और अब फ़िल्म के गाने को लेकर 'बाला' मेकर्स परेशानी में है. आप मशहूर सिंगर-म्यूजिक कंपोजर डॉ. ज़्यूस को तो जानते ही होंगे. 2003 में ''कंगना'' गाने से डॉ. ज़्यूस ने सबका ध्यान अपनी ओर खींचा और फिर अपने सफ़र में ''डोंट बी शाय'' और ''जुगनी जी'' जैसे गानों से सबको अपने म्यूजिक का दीवाना बना डाला.

जब मोदी के साथ नज़र आए बॉलीवुड के दो ख़ान

डॉ. ज़्यूस ने मैडॉक फ़िल्म्स, बादशाह, सोनी म्यूजिक और सचिन-जिगर को निशाने पर लेते हुए ट्वीट किया, ''ये आपने कब कंपोज़ किया? सीधे प्वाइंट पर आते हुए कि आप लोगों की हिम्मत कैसे हुई आप मेरे पुराने हिट गानों को इस तरह इस्तेमाल कर रहे हैं, आपको ओरिजिनल होने की ज़रुरत है, आपसे तो अब मेरे लॉयर मिलेंगे''.

ट्विटर पर छिड़ी इस लड़ाई का जवाब सिंगर रैपर बादशाह ने 'बाला' फ़िल्म के गाने 'डोंट बी शाय' को लेकर लगाए गए आरोप के बारे में कुछ ऐसे मांगी माफ़ी.

''डोंट बी शाय गाने को लेकर बनी स्थितियों के बारे में मुझे जानकारी थी. मैं यह कहना चाहता हूँ कि डॉ. ज़्यूस पाजी की मैं बहुत इज्ज़त करता हूं और वे भी यह जानते हैं. उन्हें मुझसे नाराज़ होने का अधिकार है क्योंकि वे मेरे सीनियर हैं और मैंने उनसे बहुत कुछ सीखा. जब सचिन जिगर यह गाना लेकर आए थे, तो मैंने इसे तभी एक्सेप्ट किया जब यह कन्फ़र्म कर लिया कि सारे ज़रूरी अधिकार हमारे पास हैं. लेकिन इसके बाद भी कोई ग़लतफ़हमी है तो मैं कोशिश करूंगा कि इसे जल्दी से जल्दी निपटा लिया जाए. मैं डॉ. ज़्यूस पाजी के सपोर्ट में हूं.''

आयुष्मान खुराना की 'बाला' एक ऐसे लड़के कि कहानी है, जिसके बाल जवानी में ही चले गये हैं. इस फ़िल्म का ट्रेलर 10 अक्तूबर को रिलीज़ किया गया था और पहले यह फ़िल्म 22 नवम्बर को रिलीज़ होने वाली थी. लेकिन सनी सिंह की इसी थीम पर बानी एक दूसरी फ़िल्म 'उजड़ा चमन' जिसका ट्रेलर एक अक्तूबर को रिलीज़ किया गया था, जो लोगो को काफ़ी पसंद आ रहा था. ट्रेलर की लोकप्रियता देखकर 'बाला' मेकर्स ने फ़िल्म की रिलीज़ डेट सात नवंबर कर दी.

इमेज कॉपीरइट Panorama Studios- Sunny Singh Instagram

अब इन दोनों फ़िल्मों के बीच सात नवंबर को असली जंग छिड़ेगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे