सनी हिंदुस्तानी: जूते पॉलिश करने से इंडियन आइडल जीतने तक

  • मधु पाल
  • बीबीसी हिन्दी के लिए
इंडियन आइडल 11 का विजेता घोषित होने के ठीक बाद सनी

इमेज स्रोत, Sony PR

इमेज कैप्शन,

इंडियन आइडल 11 का विजेता घोषित होने के ठीक बाद सनी

रविवार रात टेलीविज़न शो 'इंडियन आइडल 11' का ग्रैंड फिनाले हुआ. इस सीज़न को पंजाब के बठिंडा में रहने वाले सनी हिंदुस्तानी ने जीता. इंडियन आइडल 11 की ट्रॉफी अपने नाम करने के अलावा उन्होंने 25 लाख रुपए का इनाम भी जीता.

इस शो के दो रनरअप प्रतिभागियों को 5-5 लाख रुपए का इनाम दिया गया है. पहले रनरअप रोहित राउत और दूसरी रनरअप ओंकना मुखर्जी रहीं.

बूट पॉलिश करके गुज़ारा करते थे

सनी की कहानी प्रेरणा देने वाली कहानी से कम नहीं है. बठिंडा के एक छोटे से मोहल्ले से निकलकर मुंबई तक पहुंचना और मायानगरी में अपने पिंड और परिवार का नाम रोशन करना किसी ख़्वाब से कम नहीं.

सनी बेहद ग़रीब परिवार से ताल्लुक रखते हैं. इस शो तक पहुंचने का सफर उनके लिए बहुत संघर्ष भरा रहा.

सनी बताते हैं कि इस शो में आने से पहले वह जूते पॉलिश किया करते थे. उनकी मां सड़कों पर गुब्बारे बेचती थीं.

सनी अपने परिवार की ग़रीबी का ज़िक्र करते हुए बताते हैं कि उनकी मां उनका पालन-पोषण करने के लिए दूसरों के घरों से चावल मांगने तक जाया करती थीं. सनी कहते हैं कि यह उन्हें बहुत बुरा लगता था.

इंडियन आइडल जीतने के बाद सनी बेहद खुश हैं कि अब उनकी मां को ये सारे काम नहीं करने होंगे. अब वह अपनी मां को हर वह खुशी देंगे, जिसकी वह हकदार हैं.

इमेज स्रोत, Sony PR

इमेज कैप्शन,

इंडियन आइडल 11 जीतने वाले सनी हिंदुस्तानी

दोस्तों से उधार लेकर पहुंचे इंडियन आइडल

ज़िंदगी के शुरुआती दिनों में सनी ने जूते पॉलिश करने के अलावा बस स्टैंड और रेलवे स्टेशनों पर गाने गाकर अपना और अपने परिवार का गुज़ारा चलाते थे.

उन्हें कभी ऐसा अंदाज़ा नहीं था कि वह एक दिन हिंदुस्तान की आवाज़ बनकर देश में पंजाब और बठिंडा का नाम रोशन करेंगे. उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि उन्हें फिल्मों में गाने का मौका मिलेगा.

वह बताते हैं, "मुझे आज भी याद है जब मेरे दोस्त अक्सर मुझसे रिऐलिटी शो में जाने के लिए कहते थे, लेकिन मेरे पास इतने पैसे भी नहीं थे कि मैं ऑडिशन दे सकूं. दोस्तों ने मुझे इंडियन आइडल 11 के लिए ऑडिशन देने को कहा था. फिर एक दोस्त ने मुझे पैसे भी उधार दिए."

सनी ने यह भी बताया, "मेरी मां मुझे ऑडिशन में नहीं जाने दे रही थीं. मैंने मां से एक मौका देने के लिए कहा और मेरी मां ने मुझे वह मौका दिया. मेरी कोई तैयारी नहीं थी. मैंने नुसरत साहब के दो-तीन गाने सुने हुए थे, वही गाने ऑडिशन में गाए और सिलेक्ट हो गया."

इमेज स्रोत, Sony PR

शो के दौरान सनी को मिले ये ऑफर्स

फिल्मों में मिले ऑफर्स को लेकर सनी बताते हैं कि उन्हें तब बेहद खुशी हुई, जब आयुष्मान खुराना अपनी फिल्म 'शुभ मंगल ज़्यादा सावधान' का प्रमोशन करने फिनाले में फिल्म की पूरी स्टार कास्ट के साथ पहुंचे. शो के दौरान उन्होंने कहा कि इंडियन आइडल 11 का जो भी विनर होगा, उसे टी-सीरीज़ की अगली फिल्म में प्लेबैक सिंगिंग का मौका मिलेगा.

सनी अपनी सफलता का सारा श्रेय अपनी मां को देते हैं.

शो के दौरान ही सनी हिंदुस्तानी को उनका पहला ब्रेक इमरान हाशमी की फिल्म 'द बॉडी' में मिला. इसके बाद उन्हें कंगना रनौत की फिल्म 'पंगा' के लिए भी गाना गाने का मौका मिला था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)