सनी हिंदुस्तानी: जूते पॉलिश करने से इंडियन आइडल जीतने तक

  • 24 फरवरी 2020
इमेज कॉपीरइट Sony PR
Image caption इंडियन आइडल 11 का विजेता घोषित होने के ठीक बाद सनी

रविवार रात टेलीविज़न शो 'इंडियन आइडल 11' का ग्रैंड फिनाले हुआ. इस सीज़न को पंजाब के बठिंडा में रहने वाले सनी हिंदुस्तानी ने जीता. इंडियन आइडल 11 की ट्रॉफी अपने नाम करने के अलावा उन्होंने 25 लाख रुपए का इनाम भी जीता.

इस शो के दो रनरअप प्रतिभागियों को 5-5 लाख रुपए का इनाम दिया गया है. पहले रनरअप रोहित राउत और दूसरी रनरअप ओंकना मुखर्जी रहीं.

बूट पॉलिश करके गुज़ारा करते थे

सनी की कहानी प्रेरणा देने वाली कहानी से कम नहीं है. बठिंडा के एक छोटे से मोहल्ले से निकलकर मुंबई तक पहुंचना और मायानगरी में अपने पिंड और परिवार का नाम रोशन करना किसी ख़्वाब से कम नहीं.

सनी बेहद ग़रीब परिवार से ताल्लुक रखते हैं. इस शो तक पहुंचने का सफर उनके लिए बहुत संघर्ष भरा रहा.

सनी बताते हैं कि इस शो में आने से पहले वह जूते पॉलिश किया करते थे. उनकी मां सड़कों पर गुब्बारे बेचती थीं.

सनी अपने परिवार की ग़रीबी का ज़िक्र करते हुए बताते हैं कि उनकी मां उनका पालन-पोषण करने के लिए दूसरों के घरों से चावल मांगने तक जाया करती थीं. सनी कहते हैं कि यह उन्हें बहुत बुरा लगता था.

इंडियन आइडल जीतने के बाद सनी बेहद खुश हैं कि अब उनकी मां को ये सारे काम नहीं करने होंगे. अब वह अपनी मां को हर वह खुशी देंगे, जिसकी वह हकदार हैं.

इमेज कॉपीरइट Sony PR
Image caption इंडियन आइडल 11 जीतने वाले सनी हिंदुस्तानी

दोस्तों से उधार लेकर पहुंचे इंडियन आइडल

ज़िंदगी के शुरुआती दिनों में सनी ने जूते पॉलिश करने के अलावा बस स्टैंड और रेलवे स्टेशनों पर गाने गाकर अपना और अपने परिवार का गुज़ारा चलाते थे.

उन्हें कभी ऐसा अंदाज़ा नहीं था कि वह एक दिन हिंदुस्तान की आवाज़ बनकर देश में पंजाब और बठिंडा का नाम रोशन करेंगे. उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि उन्हें फिल्मों में गाने का मौका मिलेगा.

वह बताते हैं, "मुझे आज भी याद है जब मेरे दोस्त अक्सर मुझसे रिऐलिटी शो में जाने के लिए कहते थे, लेकिन मेरे पास इतने पैसे भी नहीं थे कि मैं ऑडिशन दे सकूं. दोस्तों ने मुझे इंडियन आइडल 11 के लिए ऑडिशन देने को कहा था. फिर एक दोस्त ने मुझे पैसे भी उधार दिए."

सनी ने यह भी बताया, "मेरी मां मुझे ऑडिशन में नहीं जाने दे रही थीं. मैंने मां से एक मौका देने के लिए कहा और मेरी मां ने मुझे वह मौका दिया. मेरी कोई तैयारी नहीं थी. मैंने नुसरत साहब के दो-तीन गाने सुने हुए थे, वही गाने ऑडिशन में गाए और सिलेक्ट हो गया."

इमेज कॉपीरइट Sony PR

शो के दौरान सनी को मिले ये ऑफर्स

फिल्मों में मिले ऑफर्स को लेकर सनी बताते हैं कि उन्हें तब बेहद खुशी हुई, जब आयुष्मान खुराना अपनी फिल्म 'शुभ मंगल ज़्यादा सावधान' का प्रमोशन करने फिनाले में फिल्म की पूरी स्टार कास्ट के साथ पहुंचे. शो के दौरान उन्होंने कहा कि इंडियन आइडल 11 का जो भी विनर होगा, उसे टी-सीरीज़ की अगली फिल्म में प्लेबैक सिंगिंग का मौका मिलेगा.

सनी अपनी सफलता का सारा श्रेय अपनी मां को देते हैं.

शो के दौरान ही सनी हिंदुस्तानी को उनका पहला ब्रेक इमरान हाशमी की फिल्म 'द बॉडी' में मिला. इसके बाद उन्हें कंगना रनौत की फिल्म 'पंगा' के लिए भी गाना गाने का मौका मिला था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार