कान समारोह में 'व्हाइट रिबन' सर्वश्रेष्ठ

ऑस्ट्रियन फ़िल्म व्हाइट रिबन ने कान फ़िल्म समारोह का प्रतिष्ठित पाम डओर पुरस्कार हासिल किया है.इस फ़िल्म के निर्देशक माइकल हनेके ने ब्रिटेन के

केन लोएच की 'लुकिंग फ़ॉर एरिक' और क्वेंटिन टैरेंटिनो की 'इनग्लोरियस बास्टर्डस' को पछाड़ कर बाज़ी मारी.

इस फ़िल्म के प्रमुख कलाकार क्रिस्टोफर वाल्टज़ को सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार मिला.

शार्लेट जैंसबर्ग को लार्स वोन की विवादास्पद फ़िल्म एंटीक्राइस्ट के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का पुरस्कार दिया गया.

लेकिन घरेलू हिंसा और अन्य बोल्ड दृश्यों के कारण डेनमार्क के इस निर्माता की फ़िल्म पुरस्कार नहीं जीत सकी.

<b>सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री</b>

शार्लेट जैंसबर्ग ने पुरस्कार जीतने के बाद कहा कि इस फ़िल्म का निर्माण बेहद कठिन और उनके जीवन का सबसे उत्साहजनक अनुभव था.

सर्वश्रेष्ठ निर्देशक का पुरस्कार फिलीपींस के ब्रिलिएंट मेंडोज़ा को उनकी फ़िल्म किन्टे के लिए दिया गया.

ब्रितानी फ़िल्म निर्माता एंड्रीया आर्नोल्ड और दक्षिण कोरिया के निर्देशक पार्क चान वुक को संयुक्त रूप से जूरी पुरस्कार दिया गया.

पाम डओर पुरस्कार के लिए 20 निर्देशकों की फ़िल्में समारोह में दिखाई गईं थीं.

इस साल 62 वें कान उत्सव की शुरुआत एक एनिमेटेड फ़िल्म 'अप' से हुई थी.

कान फ़िल्म समारोह के इतिहास में ये पहली बार हुआ जब किसी एनिमेटेड फ़िल्म से समारोह की शुरुआत हुई.

उल्लेखनीय है कि इस बार बॉलीवुड की बीते ज़माने की चर्चित अभिनेत्री शर्मिला टैगोर ज्यूरी में शामिल थीं.

पिछले कुछ वर्षों में भारत से ऐश्वर्या राय और नंदिता दास भी ज्यूरी का हिस्सा रह चुकी हैं.

संबंधित समाचार