'राखी का स्वयंवर' पर क़ानूनी विवाद

राखी सावंत

भारत की एक टेलिवीज़न कंपनी के कार्यक्रम 'राखी का स्वयंवर' को लेकर कानूनी विवाद उठ खड़ा हुआ है.

जयपुर की एक अदालत ने इस कार्यक्रम का निर्माण करने वाली कंपनी और कार्यक्रम की धुरी बनी राखी सावंत के खिलाफ़ पुलिस को कॉपीराइट कानून के उल्लंघन का मामला दर्ज करने का निर्देश दिया है.

जयपुर की एक स्थानीय अदालत ने ये आदेश जयपुर के एक स्क्रिप्ट राइटर गौरव तिवारी की दलील सुनने के बाद दिया है.

गौरव तिवारी के वकील अजय जैन ने बीबीसी को बताया की स्वयंवर कार्यक्रम गौरव तिवारी के मौलिक विचार की देन था और इसका विधिवत कॉपीराइट भी करवा लिया गया था.लेकिन इन कंपनियों ने गौरव के विचार को चुरा लिया.

गौरव तिवारी ने परिवाद में कहा है कि स्वयंवर कार्यक्रम को बनाने वाले ने उनकी अवधारणा को अपने नाम से इस्तेमाल कर कानून का उल्लंघन किया है और भारतीय दंड विधान की धाराओं के तहत अपराध किया है.

वकील ने बताया,"परिवादी और इन कंपनियों के बीच बात भी हुई थी.मगर अचानक गौरव तिवारी को पता चला कि कॉपीराइट में दर्ज विचारों का हरण कर कार्यक्रम प्रस्तुत किया जा रहा है. लिहाज़ा उन्हें अदालत की शरण लेनी पड़ी है."

इस मामले में एनडीटीवी इमेजिन, राखी सावंत, रवि किशन सहित छह लोगों को अभियुक्त बनाया गया है.

संबंधित समाचार