गोविंदा का जवाब नहीं

गोविंदा
Image caption गोविंदा एक बार फिर धमाकेदार वापसी करना चाहते हैं

गोविंदा का भी जवाब नहीं है. गोविंदा जी अब मानने लगे हैं कि उनके अच्छे दिन वापस आ गए हैं.

हाल ही में बीबीसी से बातचीत में गोविंदा ने कहा कि अब वो प्रोफेश्नल हो गए हैं.

साथ ही ये कि वो नए कलाकारों के साथ काम करने में बिल्कुल सहज महसूस करते हैं.

उनकी हाल ही में प्रदर्शित होने वाली फ़िल्म लाइफ पार्टनर में उनके साथ फरदीन ख़ान और तुषार कपूर भी हैं.

गोविंदा ने इन दोनों की तारीफ़ों के पुल बांध दिए.

गोविंदा का मानना है कि वक्त बदल गया है लेकिन इस बदले हुए वक्त में वो एक बार फिर सुपरस्टार बनकर दिखाएंगे.

इधर करिश्मा कपूर के साथ वापसी के सवाल पर उनका कहना था कि वो चाहते हैं कि गोविंदा, डेविड धवन और करिश्मा कपूर की जोड़ी अपना कमाल दिखाए.

सलमान की सलाह

Image caption सलमान की सलाह है कि काम की पूरी कीमत वसूलें

इस हफ़्ते सलमान ख़ान ने शैडो नाम की फ़िल्म का म्यूजिक लांच किया.

इस फ़िल्म में मुख्य भूमिका निभाई है नासिर ख़ान ने.

नासिर खान बिल्कुल अंधे हैं और उन्हें कुछ भी दिखाई नहीं देता है और शायद यही वज़ह थी कि सलमान उनके हौसले को सलाम करने आ गए.

अब सलमान तो सलमान हैं, उन्होंने माइक हाथ में लेकर सबको अपना संदेश सुना डाला.

सलमान ने नासिर को मशविरा देते हुए कहा कि इस फ़िल्म इंडस्ट्री में कुछ भी यूं ही नहीं होता और अगर आपको इस इंडस्ट्री का हिस्सा बनना है तो कड़ी मेहनत तो करनी ही होगी.

साथ ही अपने काम की सही कीमत भी लेने में पीछे नहीं हटना चाहिए नहीं तो यहां कई लोग ऐसे हैं जो आपसे मुफ़्त में भी काम करवाने में गुरेज नहीं करेंगे.

इतना ही नहीं सलमान ने इस पर भी एक लंबा भाषण दिया कि लोगों की नासिर की ये फ़िल्म क्यूं देखनी चाहिए.

ग़ज़ल महोत्सव

Image caption ख़ज़ाना महत्वपूर्ण ग़ज़ल उत्सव बनकर उभरा है

पिछले हफ्ते मुंबई में ग़ज़लों के एक महोत्सव ख़ज़ाना का आयोजन किया गया.

ख़ज़ाना में हर साल भारत के कई जाने माने ग़ज़ल गायक अपने कार्यक्रमों को पेश करते हैं साथ ही नई प्रतिभाओं को भी मौक़ा दिया जाता है ताकि वो अपने हुनर को लोगों के सामने पेश कर सकें.

ख़ज़ाना का ये आठवां साल था और इस बार ये समर्पित था साठ और सत्तर के दशक के जाने माने संगीतकार मदन मोहन साहब को. इस मौक़े पर उन्हें श्रद्धांजलि दी गई.

ग़ज़लों की इस महफिल की शुरुआत करने वालों में मुख्य थे जाने माने ग़ज़ल गायक पंकज उधास.

बीबीसी से बातचीत में पंकज ने बताया कि सात साल पहले हमने ये सिलसिला इसलिए शुरु किया था कि साल में एक बार ग़ज़ल की दुनिया के सभी लोग एक मंच पर इकट्ठा हो सकें और हमें खुशी है कि ये कार्यक्रम हर साल कामयाबी की बुलंदियां छूता जा रहा है.

मुन्ना भाई का गिफ्ट

Image caption संजय दत्त का कहना है कि उन्होंने बहुत उतार चढ़ाव देखे हैं

इसी हफ़्ते मुन्ना भाई यानी संजय दत्त ने अपनी ज़िंदगी के पचास वसंत पूरे किए

इस जन्मदिन के मौक़े पर कहा जा रहा है कि संजय को जो सबसे बड़ा गिफ्ट चाहिए वो है आज़ादी का.

संजय इन दिनों अपनी फ़िल्म नो प्राब्लम की शूटिंग के लिए केपटाउन में कर रहे हैं वहीं पर कुछ क़रीबी दोस्तों के साथ उन्होंने अपना जन्मदिन मनाया.

इस मौक़े पर उनकी बहनें और परिवार के दूसरे लोग तो नहीं पहुंच सके लेकिन उनकी पत्नी मान्यता ज़रुर उनके साथ थीं.

संजय दत्त 1993 में मुंबई में हुए विस्फोटों से जुड़े मामले में लंबे समय से क़ानूनी लड़ाई लड़ रहे हैं.

इस दौरान उनकी निजी जिंदगी में भी बहुत-उतार चढ़ावा आया है.

चलिए हमें उम्मीद करनी चाहिए कि उन्हें उनकी बर्थडे विश जल्दी ही पूरा हो जाए.

हेरा फेरी की वापसी

Image caption अक्षय कुमार प्रियदर्शन की फ़िल्म में एक बार फिर दिखेंगे

नौ साल बाद, फ़िल्‍मी दुनिया की तिकड़ी एक साथ काम करने वाली है.

जी हां, फिल्‍म 'हेरा फेरी' के नौ साल बाद निर्देशक प्रियदर्शन एक बार फिर उसी टीम के साथ फ़िल्‍म 'दे धना धन' लेकर आ रहे है.

अक्षय कुमार ने अकेले अबतक कई हिट फ़िल्‍में दी है.

लेकिन सुनील शेट्टी ने आख़िरी समय में फ़िल्‍म 'सिंग इज किंग' करने से मना कर दिया था जिसके बाद सुनने में आया था कि सुनील और अक्षय के बीच झगड़ा हो गया था.

लेकिन अब फ़िल्‍म निर्देशक प्रियदर्शन इन दोनों को साथ आने में कामयाब हुए है.

दोनों फ़िल्‍म 'दे धना धन' में साथ में नजर आएंगे.

फ़िल्‍म में अक्षय और सुनील के अलावा परेश रावल और कैटरीना कैफ़ भी हैं.

गायत्री देवी के कायल

विश्व की सबसे खूबसूरत महिलाओं में शामिल जयपुर की महारानी गायत्री देवी की खूबसूरती के बॉलीवुड अभिनेता अमिताभ बच्चन भी कायल रहे हैं.

Image caption अमिताभ बच्चन भी गायत्री देवी के कायल हैं

हाल ही में अपने ब्लॉग में अमिताभ ने उन्हें श्रद्दांजलि दी है.

बिग बी ने उन्हें शिष्टता और सौंदर्य की मूर्ति की उपाधि दी है, साथ ही इस बात को भी स्वीकार किया है कि उन्होंने सपने में भी नहीं सोचा था कि वे कभी उनसे व्यक्तिगत तौर पर मिलेंगे.

अमिताभ ने अपने ब्लॉग पर जिक्र करते हुए बताया है कि किस तरह दिल्ली विश्वविद्यालय में पढ़ते समय वो अक्सर एयरफोर्स कॉलोनी से सटे जयपुर पोलो क्लब में खिलाड़ियों को भिड़ते हुए देखने जाते थे तो वहां जयपुर के पूर्व महाराजा सवाई मानसिंह के साथ शिष्टता और सौंदर्य की मूर्ति उनकी पत्नी महारानी गायत्री देवी भी आती थीं.

और किस तरह बाद में जब वो फ़िल्म की शूटिंग के लिए जयपुर गए तो महारानी से उनकी औपचारिक मुलाक़ात हुई और उसके बाद अमिताभ की गायत्री देवी के साथ कई और अवसरों पर भेंट हुई.

(इस कॉलम पर अपनी प्रतिक्रिया hindi.letters@bbc.co.uk पर ईमेल कर अवगत कराएँ )

संबंधित समाचार