फ़ॉक्स स्टार ने ख़रीदे अधिकार

शाहरुख़ ख़ान
Image caption माई नेम इज़ ख़ान में शाहरुख़ मुख्य भूमिका निभा रहे हैं

बीते दसेक सालों में हिंदी फ़िल्मों का देश के बाहर एक बड़ा बाज़ार सामने आया है. बड़े बैनर की बॉलीवुड फ़िल्मों के ओवरसीज़ राइट्स मोटी रकम पर बिक रहे हैं.

शायद यही वजह है कि हॉलीवुड के बड़े स्टूडियो भी इस ओर आकर्षित हो रहे हैं. लेकिन अब तो भारत और भारत से बाहर दोनों ही बाज़ारों में एक बॉलीवुड फ़िल्म की मार्केटिंग और वितरण का जिम्मा एक मशहूर अमेरिकी स्टूडियो ले लिया है. गुरुवार को मुंबई में फ़ॉक्स स्टार स्टूडियो ने करण जौहर की आने वाली फ़िल्म 'माई नेम इज़ ख़ान' के विश्वव्यापी मार्केटिंग और वितरण अधिकार ख़रीद लिए हैं. फॉक्स स्टार स्टूडियो ट्वेंटीएथ सेंचुरी फ़ॉक्स और स्टार का एक संयुक्त उपक्रम है. ट्वेंटीएथ सेंचुरी फ़ॉक्स इंटरनेशनल के प्रेसीडेंट सैनफ़ॉर्ड पैनिश ने कहा कि अगर भारतीय फ़िल्मों में ग्लोबल फ़िल्म बनने कि योग्यता है तो ऐसा किया जाना चाहिए. उन्होंने उम्मीद जताई की ये करण जौहर और शाहरुख़ ख़ान के साथ सहयोग की शुरुआत है. शाहरुख़ ख़ान ने कहा है कि फ़ॉक्स स्टार का करण जौहर की फ़िल्म को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर रिलीज़ करवाने के लिए समझौता होना एक बड़े गर्व की बात है. फ़ॉक्स स्टार इस फ़िल्म की भारत में मार्केटिंग और वितरण करेगा. और इन्हीं की सहयोगी कंपनी फ़ॉक्स सर्चलाइट पिक्चर्स 'माई नेम इज़ ख़ान' को अमेरिका में रिलीज़ करेगी. 'माई नेम इज़ ख़ान' का निर्देशक करण जौहर ने किया है और इस फ़िल्म में शाहरुख़ ख़ान और काजोल ने मुख्य भूमिकाएं निभाईं हैं. शाहरुख़ इस फिल्म के सह-निर्माता भी हैं. फिल्म की कहानी 9/11 के चरमपंथी हमलों की पृष्ठभूमि और इस हमले के बाद अमेरिका में रह रहे भारतीय मुसलमानों पर पड़ने वाले असर पर आधारित है.

संबंधित समाचार