मेघना की डॉक्यूमेंट्री

फ़िलहाल
Image caption मेघना गुलज़ार की फ़िल्म फ़िलहाल काफ़ी चर्चा में रही है

गुलज़ार और राखी की बेटी मेघना आजकल एक ग़ैर सरकारी संस्था के लिये डॉक्यूमेंट्री फ़िल्म बना रही हैं.

ये फ़िल्म बच्चों में अकसर पाये जाने वाली बीमारी ऑटिज़म पर आधारित है. ऑटिज़म एक ऐसी मानसिक बीमारी है जिसकी वजह से लोगों को अपनी बात दूसरों को समझाने और लोगों के साथ मेल-मिलाप बढ़ाने में दिक्कत आती है.

फ़िल्म में ऑटिज़म के अलावा बच्चों के विकास में बाधा डालने वाली और बीमारियों पर भी नज़र डाली गई है.

मेघना कहती हैं, "इस फ़िल्म में बताया गया है कि इन सब की पहचान कैसी होती है, इनके लक्षण क्या होते हैं और इनका इलाज कैसे किया जा सकता है."

"मैने ऑटिज़म के बारे में बहुत शोध किया. इसके लिये मैंने इससे पीड़ित बच्चों और उनके मां-बाप से बात की. इसके साथ ही इंटरनेट पर भी बहुत जानकारी उपलब्ध है."

मेघना ने अपने फ़िल्मी करियर में 'फ़िलहाल' और 'लव मैरिज' जैसी फ़िल्मों का निर्देशन किया है.

मेघना कहती हैं कि इस फ़िल्म को वो वास्तविकता के बहुत क़रीब रखना चाहती हैं इसलिये इसमें किसी नाट्य रूपांतर का सहारा नहीं लिया गया है. फ़िल्म के कई हिस्से स्कूलों में फ़िल्माये गये हैं और वो चाहती थीं कि इसकी वजह से बच्चों को किसी प्रकार की असुविधा न हो.

"मैंने ये डॉक्यूमेंट्री करने की इसलिये सोची क्योंकि इससे ऑटिज़म के बारे में लोगों को जागरूकता मिलेगी. मैंने डॉक्यूमेंट्री पहले भी बनाई हैं इसलिये इसमें मुझे कोई ख़ास दिक्कत नहीं दिखी," मेघना कहती हैं.

"मै अपनी रचनात्मकता को सिर्फ बड़े पर्दे तक सीमित नहीं रखना चाहती. मुझे अलग-अलग माध्यम में काम करना अच्छा लगता है."

फ़िल्म के लिये मेघना के पिता गुलज़ार ने एक कविता भी लिखी है और कई बाल कलाकारों के साथ एक वीडियो भी फ़िल्माया गया है.

इस फ़िल्म को टीवी पर प्रसारित करने की योजना है. साथ ही इसकी डीवीडी निकाल कर स्कूलों और अस्पतालों में बांटने का भी विचार है.