माइकल जैक्सन से जुड़े दस्तावेज़ जारी

  • 23 दिसंबर 2009
माइकल जैक्सन
Image caption इन दस्तावेज़ों से जैक्सन की मौत से संबधित जानकारी नहीं है

अमरीकी गुप्तचर संस्था एफबीआई ने पॉप स्टार माइकल जैक्सन से जुड़े 300 पन्नों के गुप्त दस्तावेज़ जारी किए हैं.

इन दस्तावेज़ों में माइकल जैक्सन के वर्ष 1993 और 2004 के दौरान सामने आए बच्चों के साथ हुए कथित यौनाचार से जुड़े मामले शामिल हैं.

इन दस्तावेज़ों को अमरीका के सूचना की आज़ादी कानून के अंतर्गत जारी किया गया है, हालांकि अब भी आधी से ज़्यादा जानकारी गुप्त रहेगी.

इन दस्तावेज़ों से माइकल जैक्सन की मौत के बारे में कोई नई जानकारी उभर कर नहीं आई है.

एक दस्तावेज़ के मुताबिक वर्ष 2004 में सांटा मारिया की स्थानीय पुलिस ने एफबीआई से मदद मांगी क्योंकि उन्हें लगता था कि माइकल जैक्सन पर न्यायालय में चल रहे केस पर दुनिया भर के मीडिया की नज़र है और आतंकवादी ऐसे ही किसी आसान लक्ष्य की खोज में रहते हैं.

हालांकि एफ़बीआई ने ऐसी किसी भी आशंका से इनकार किया.

निर्दोष

वर्ष 2005 में चार महीने चले मुक़दमे के बाद माइकल जैक्सन को निर्दोष पाया गया.

दस्तावेज़ों के मुताबिक एफ़बीआई ने स्थानीय प्रशासन की 1993 और 2005 के बीच कई बार मदद की.

एफ़बीआई के लंदन स्थित दफ़्तर ने 1993 में बच्चों के साथ हुए कथित यौन शोषण मामले में मदद की.

साल 2005 में अमरीका के कस्टम अधिकारियों ने बच्चों के अश्लील साहित्य से जुड़ी छानबीन के दौरान एफ़बीआई को एक वीएचएस वीडियो दिया और उसकी जाँच करने को कहा.

एफ़बीआई के दस्तावेज़ों के अनुसार कम गुणवत्ता वाले उस टेप पर लिखा था ‘माइकल जैक्सन की नेवरलैंड मनपसंद, ऐन आल ब्वाय एंथॉलॉजी’.

वर्ष 1993 में लॉस एंजेलिस पुलिस ने 13 वर्षीय जॉर्डी शैंडलर के पिता के आरोपों के बाद माइकल जैक्सन के खिलाफ़ बच्चों के साथ हुए यौन शोषण मामले की जाँच शुरू की.

जैक्सन ने इन आरोपों का ज़ोरदार खंडन किया और उन पर आरोप कभी भी साबित नहीं हुए.

वर्ष 1994 के शुरुआती महीनों में मामले को कोर्ट के बाहर निपटाया गया और रिपोर्टों के अनुसार जॉर्डी शैंडलर को 20 मिलियन डॉलर दिए गए.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार