टूट रही है भाषा की दीवार: कमल हासन

जाने-माने अभिनेता कमल हासन मानते हैं कि फ़िल्मों में अब भाषाई दीवार ख़त्म हो चुकी है. दर्शक हर प्रकार की बेहतरीन फ़िल्में देखना चाहते हैं.

दर्शकों को इस बात से कोई ख़ास लेना-देना नहीं है कि ये फ़िल्में मूल रूप से किस भाषा में बनी थीं. इसलिए दक्षिण भारतीय फ़िल्मों के हिंदी में रीमेक का प्रचलन बढ़ रहा है.उन्होंने अपनी फ़िल्म 'दशावतारम' भी हिंदी में 'दशावतार' नाम से बनाई है.

कमल हासन बालीवुड शब्द के इस्तेमाल से यह कहते हुए बचते हैं कि ये बनावटी लगता है. इसकी जगह हिंदी फ़िल्म उद्योग कहना ज़्यादा उचित है. मूल तौर पर तमिल में बनी अपनी इस फ़िल्म के हिंदी संस्करण के प्रचार के लिए हाल में कोलकाता आए कमल हासन ने अपने कैरियर, फ़िल्मों की बदलती दुनिया और उससे जुड़े विभिन्न पहलुओं पर खुल कर बातचीत की. पेश हैं बातचीत के ख़ास हिस्से...

वर्ष 2009 में आप हिंदी फिल्म में लंबे समय बाद नज़र आए. कोई ख़ास वजह?

कोई ख़ास वजह नहीं है. दरअसल, मुझे लंबे समय से बालीवुड में कोई ठीक परियोजना नहीं मिली. इसके अलावा दूसरी कुछ परियोजनाओँ में व्यस्त रहा. अब एक और हिंदी फ़िल्म की योजना है. उसकी स्क्रिप्ट तैयार हो चुकी है. कलाकारों के चयन का काम भी जल्दी ही शुरू होगा.

दशावतारम को हिंदी में बनाने का ख़्याल कैसे आया?

देखिए, फ़िल्मों में अब भाषा की दीवार लगभग टूट गई है. शिवाजी और गजनी जैसी फ़िल्मों को मिली कामयाबी ने यह मिथक तोड़ दिया है कि दूसरी भाषाओं की फ़िल्में हिंदी में उतनी कामयाब नहीं रहतीं.

अब इस बात की कोई अहमियत नहीं रह गई है कि कोई फ़िल्म मूल रूप से किस भाषा में बनी है. अब विषय और तथ्य ज़्यादा अहम हो गये हैं. यही वजह है कि दक्षिण भारतीय भाषाओं की कई हिट फ़िल्मों के रीमेक संस्करणों ने अच्छी कामयाबी हासिल की है. कई फ़िल्में अभी रीमेक की क़तार में हैं.

क्या दक्षिण भारत के दूसरे फ़िल्मकारों की तर्ज़ पर आपकी भी राजनीति में आने की कोई योजना है?

राजनीति और आस्था निहायत निजी मामले होते हैं. इनको सार्वजनिक करना उचित नहीं होता. लेकिन फ़िलहाल राजनीति में आने का मेरा कोई इरादा नहीं है.

आगे की क्या योजना है?

फ़िलहाल कुछ परियोजनाओं पर काम चल रहा है. मैं आतंकवाद पर आधारित चर्चित हिंदी फ़िल्म 'ए वेडनेसडे' को तमिल और तेलुगू में बना रहा हूं. अगले महीने से ही इसकी शूटिंग शुरू हो जाएगी. एक और हिंदी फ़िल्म में अभिनय की बात चल रही है.