ज़ोकोमेन बने दर्शील

  • 26 जनवरी 2010
दर्शील सफ़ारी
Image caption दर्शील सफ़ारी ने फ़िल्म 'तारे ज़मीन पर' से काफ़ी वाहवाही लूटी थी

फ़िल्म तारे ज़मीन पर से मशहूर हुए बाल कलाकार दर्शील सफ़ारी अब नज़र आएंगे वॉल्ट डिज़नी की फ़िल्म ज़ोकोमोन में. मई में रिलीज़ हो रही इस फ़िल्म में दर्शील ज़ोकोमोन नाम के बाल नायक का किरदार करेंगे.

‘तारे ज़मीन पर’ इतनी बड़ी हिट हुई थी कि अब दर्शील सफ़ारी जो भी फ़िल्म करें, उससे तुलना तो होगी ही.

दर्शील सफ़ारी के पास इस संभावित प्रश्न का जवाब भी तैयार है. सफ़ारी कहते हैं, “ये किरदार ‘तारे ज़मीन पर’ वाले किरदार से बिल्कुल विपरीत है, क्योंकि वो तो एक भावनात्मक फ़िल्म थी जबकि ये एक एक्शन फंतासी है.”

इतनी छोटी उम्र में दर्शील सफ़ारी अपनी फ़िल्में कैसे चुनते हैं, सफ़ारी कहते हैं, “मैं स्वयं फ़ैसला नहीं करता. ज़ोकोमोन की पटकथा पहले मेरे पिता ने देखी, उन्हें ये पसंद आई. उन्होंने मुझे इस पटकथा को पढ़ने के लिए कुछ समय दिया. मैंने पटकथा का पहला ही पन्ना पढ़ा था और मुझे लगा कि मुझे ये फ़िल्म करनी चाहिए.”

ज़ोकोमोन में दर्शील का एक डॉयलॉग बार-बार सुनने को मिलेगा. ये डॉयलॉग है – ‘मन में है विश्वास तो हर डर है बकवास.’

उन्हें विश्वास है कि ज़ोकोमोन भी तारे ज़मीन पर की तरह उन्हें वाहवाही देगी.

दर्शील सफ़ारी जल्द ही एक ओर फ़िल्म में नज़र आएंगे जिसका नाम है ‘बम बम बोले’. प्रियदर्शन निर्देशित इस फ़िल्म में अतुल कुलकर्णी और ऋतुपर्णा सेनशर्मा मुख्य भूमिका में होंगे.

संबंधित समाचार