मैं ऐतिहासिक फ़िल्में करना चाहती हूं

  • 11 मार्च 2010
जया बच्चन (फाइल फोटो)
Image caption जया बच्चन कई बेहतरीन फ़िल्मों में अभिनय कर चुकी हैं.

अपने कैरियर में गुड्डी, अभिमान, शोले और मिली जैसी कई बहतरीन फ़िल्में कर चुकीं जया बच्चन कहती हैं कि वो एक ऐतिहासिक फ़िल्म करना चाहती हैं.

जया बच्चन कहती हैं, "मैं बहुत लंबे समय से एक ऐतिहासिक किरदार निभाना चाहती हूं. मीराबाई और रानी पद्मिनी जैसे किरदार मुझे बहुत आकर्षित करते हैं."

1979 में रिलीज़ हुई गुलज़ार की फ़िल्म 'मीरा' में जया बच्चन ने इस किरदार को निभाने के लिए प्रस्ताव भी रखा था.

उन्होंने हंसते हुए बताया, "मेरी गुलज़ार से ख़ूब लड़ाई हुई थी कि उन्होंने मीरा के किरदार के लिए हेमा मालिनी को क्यों लिया. तो इसपर गुलज़ार ने हंसते हुए कहा कि उन्हें लड़ाकी मीरा नहीं चाहिए."

जया बच्चन कहती हैं कि अपने कैरियर में उन्होंने वही फ़िल्में की जिसमें उन्हें विश्वास था.

उन्होंने कहा, "मैंने कभी भी फ़िल्में सिर्फ़ इसलिए नहीं की कि मुझे काम करना था. मुझे हमेशा से ही सादे किरदार पसंद आते थे. एक दो फ़िल्मों के अलावा मैंने ऐसी फ़िल्में कम ही की हैं जिसमें ख़ूब मेक-अप हो. मुझे जो पसंद आता है मैं वही काम करती हूं."

जया बच्चन कहती हैं कि उन्हें 'नंबर 1' अभिनेता की दौड़ में विश्वास नहीं है और वो बेटे अभिषेक को भी इस दौड़ से बाहर रहने की सलाह देती हैं.

उन्होंने कहा, "अमित और मैं हमेशा अभिषेक को यही कहते हैं कि कभी इस दौड़ का हिस्सा मत बनो. अगर किसी एक फ़िल्म में भी वो बतौर अभिनेता अपने आप को साबित कर लेता है तो हमारे लिए इतना ही बहुत है.”

हाल ही में हुए 12 वें लंदन एशियाई फ़िल्म महोत्सव में जया बच्चन को मिला लाईफ़टाईम अचीवमेंट पुरस्कार और इस महोत्सव का उदघाटन बेटे अभिषेक बच्चन ने किया.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार