फिल्म निर्माण के लिए सही ट्रेनिंग जरुरी

करन जौहर और सुभाष घई
Image caption करण जौहर ने सुभाष घई के फ़िल्म स्कूल में कुछ नए कोर्स लॉंच किए

जाने माने फिल्म निर्देशक करण जौहर का मानना है कि दूसरे क्षेत्रों की ही तरह फिल्मों की भी सही शिक्षा होना बहुत ज़रुरी है. उनका कहना है कि बदलते वक़्त के साथ फिल्मी दुनिया में कदम रखने वालों के लिए ट्रेनिंग बेहद ज़रुरी है.

करण जौहर मानते हैं कि उन्हें फ़िल्मी बैकग्राउंड का फ़ायदा मिला लेकिन ऐसे तमाम टैलेंटेड लोग हैं जिन्हें सही ट्रेनिंग दी जाए तो वो बेहतरीन काम कर सकते हैं.

करण जौहर कहते हैं, “मैं एक फ़िल्म प्रोड्यूसर का बेटा हूं, इसीलिए मुझे फ़िल्मी दुनिया में कामयाब होने के लिए कोई संघर्ष नहीं करना पड़ा, लेकिन मैं महसूस करता हूं कि काश मुझे भी फ़िल्मी दुनिया में आने से पहले सही ट्रेनिंग मिली होती.”

करण ने मुंबई स्थित फ़िल्म स्कूल व्हिसलिंगवुड्स में कुछ नए छोटी अवधि के पाठ्यक्रमों की लाँच के दौरान ये बातें कहीं. इन पाठ्यक्रमों में स्क्रीन प्ले लेखन, टीवी राइटिंग वगैरह शामिल हैं. ये स्कूल मशहूर निर्माता-निर्देशक सुभाष घई चलाते हैं.

लेकिन दिलचस्प बात ये रही कि जब उनसे ये पूछा गया कि क्या वो भी कभी कोई ऐक्टिंग स्कूल खोलना चाहेंगे तो उन्होंने हंसते हुए कहा कि अभी ऐसा कोई इरादा नहीं है और वो व्हिसलिंगवुड जैसी प्रतिष्ठित संस्था से पहले से ही जुड़े हुए हैं.

इस ख़ास मौके पर सुभाष घई और करण जौहर ने अपनी आने वाली फ़िल्मों के बारे में भी चर्चा की.

संबंधित समाचार