एक फ़िल्म समारोह, जरा हटके

  • 17 अप्रैल 2010
सेलीना जेटली
Image caption फ़िल्म अभिनेत्री सेलीना जेटली समलैंगिक और ट्रांसजेंडर्स की जानी-मानी समर्थक हैं.

इसी महीने 22 से 25 अप्रैल के बीच मुंबई में एलजीबीटी (लेस्बियन, गे, बाइसेक्सुअल और ट्रांसजेंडर ) इंटरनेशनल फ़िल्म फ़ेस्टिवल होगा.

इस समारोह में एलजीबीटी समुदाय पर बनाई गई 25 देशों की 110 फ़िल्में दिखाई जाएंगी.

फ़िल्म अभिनेत्री सेलीना जेटली समलैंगिकों और उनके अधिकारों की जानी-मानी समर्थक हैं. गुरुवार को मुंबई में उन्होंनें ‘कशिश—मुंबई इंटरनेशनल क्वीर फ़िल्म फ़ेस्टिवल’ के प्रचार की शुरुआत की.

उन्होंने बताया कि इस समारोह को सूचना और प्रसारण मंत्रालय का समर्थन भी है.

सेलीना कहती हैं, “इस फ़ेस्टिवल के द्वारा आपको एलजीबीटी समुदाय के लोगों की ज़िंदगी के बारे पता चलेगा. आप जानेंगे कि वो हमारे और आपकी ही तरह हैं, उनकी अपनी ख़ुशियां और परेशानियां हैं. ये भी मानवीय भावनाओं के बारे में फ़िल्में हैं.”

इस फ़ेस्टिवल के लिए फ़िल्में चुनने वाली ट्रांसजेंडर्स की कोर कमेटी की सदस्य हैं अबीना अहीर.

अबीना कहती हैं, “ये फ़िल्म फ़ेस्टिवल सिर्फ़ एलजीबीटी समुदाय के लिए ही नहीं है बल्कि ये इस समुदाय और मुख्यधारा के बीच एक पुल बना रहा है. ये एक मौका बना रहा है ताकि समाज के मुद्दों के बारे में साथ मिल कर चर्चा कर पाएं.”

अबीना आगे कहती हैं, “इस तरह के फ़ेस्टिवल से लोगों में इस समुदाय के प्रति सहनशीलता बढ़ रही है. कशिश जैसा फ़ेस्टिवल इनके आंदोलन को आगे लेकर जाएगा.”

हाल ही में सेलीना ट्रांसजेंडर कार्यकर्ता लक्ष्मी नारायण त्रिपाठी के समर्थन में सामने आईं. लक्ष्मी को मुंबई जिमखाना क्लब से निकाल दिया गया था.

सेलीना कहती हैं, “मैं जानना चाहती हूं कि इस बारे में क्लब के क्या नियम हैं. क्या आप ये अपनी नियम पुस्तिका में डालेंगे कि ट्रांसजेंडर और बाकी एलजीबीटी समुदाय के लोगों के लिए क्लब में प्रवेश वर्जित है. अगर ऐसा है तो ये तो वही बात हुई जब अंग्रेज़ो के राज में इसी क्लब के बाहर लिखा होता था कि हिंदुस्तानी और कुत्तों का प्रवेश वर्जित है. अगर ऐसा है तो ये मानवाधिकार का मामला है जिसे संजीदगी से लेना चाहिए.”

सेलीना निजी ज़िंदगी में समलैंगिक मुद्दों की इतनी बड़ी समर्थक हैं, अपनी व्यवसायिक ज़िंदगी में भी वो उस मुद्दे के बारे में फ़िल्म करना चाहती हैं.

सेलीना कहती हैं, “हां मैं एक स्क्रिप्ट देख रही हूं लेकिन वो भारतीय फ़िल्म नहीं है. अगर सब कुछ ठीक रहा तो मैं ये फ़िल्म करुंगी.”

संबंधित समाचार