रॉबिन हुड के साथ कान समारोह शुरू

  • 13 मई 2010
कान समारोह

दुनिया का सबसे प्रतिष्ठित अंतरराष्ट्रीय कान फ़िल्म समारोह बुधवार को रसेल क्रो और केट ब्लैंचेंट की फ़िल्म रॉबिन हुड की फ़िल्म के प्रदर्शन के साथ शुरू हुआ.

फ़िल्म का निर्देशन रिडले स्कॉट ने किया. हालांकि ये फ़िल्म प्रतियोगिता में हिस्सा नहीं ले रही है.

इस बार जूरी में शामिल ईरानी फ़िल्म निर्माता जफ़र पनाही समारोह में नहीं ले पा रहे हैं.

उन्हें मार्च में कथित सरकार विरोधी फ़िल्म बनाने की योजना बनाने के आरोप में गिरफ़्तार कर लिया गया था.

63 वां कान फ़िल्म महोत्सव 23 मई तक चलेगा.

इसमें ओलिवर स्टोन की वॉल स्ट्रीट श्रृंखला की दूसरी फ़िल्म मनी नेवर स्लीप्स दिखाई जाएगी.

कान में इस बार 19 फ़िल्में मुख्य प्रतिस्पर्धा में हैं.

विख्यात निर्देशक ओलिवर स्टोन और वूडी एलन भी कान में अपनी नई फ़िल्में प्रदर्शित करेंगे.

वूडी एलन की फ़िल्म यू विल मीट अ टाल डार्क स्ट्रेंजर में भारतीय अभिनेत्री फ्रीडा पिंटो मुख्य भूमिका निभा रही हैं. हालांकि ये फ़िल्म प्रतियोगिता वर्ग में नहीं है.

मुख्य मुक़ाबला

इस बार कान फिल्म समारोह में मुख्य मुक़ाबला ब्रितानी, फ्रेंच, इतावली और जापानी फिल्मों के बीच होगा.

Image caption रसेल क्रो और केट ब्लैंकेट की फ़िल्म के साथ कान महोत्सव शुरू हुआ

एशिया की ओर से थाइलैंड, जापान और चीन की एक-एक फ़िल्में है जबकि दक्षिण कोरिया से दो फिल्में हैं.

भारत की ओर से इस बार समारोह में मृणाल सेन की खंडहर विशेष वर्ग में दिखाई जाएगी.

साथ ही भारतीय लड़के पर आधारित हैल्वी की फ़िल्म ‘कवि’ इस साल कान फ़िल्म महोत्सव के 'शॉर्ट फ़िल्म कॉर्नर' में दिखाई जाएगी.

‘कवि’ एक छोटे से भारतीय लड़के की कहानी है जो स्कूल जाना चाहता है और क्रिकेट खेलना चाहता है. लेकिन वो ग़रीब है इसलिए उसे ईंट भट्टे में काम करना पड़ता है.

ये फ़िल्म ऑस्कर में शॉर्ट फ़िल्म कैटगरी में नामांकित हुई थी और इसे छात्र वर्ग में एक पुरस्कार भी मिला था.

संबंधित समाचार