बमन इरानी में छुपा है गायक भी

  • 14 जून 2010
बमन इरानी
Image caption अपने अभिनय का लोहा मनवा चुके बमन इरानी अब गायक बन गए हैं.

मुन्नाभाई और 3 इडियट्स जैसी सुपरहिट फिल्मों से अपने अभिनय का लोहा मनवा चुके बमन इरानी एक अच्छे गायक भी हैं..

बमन ने हाल ही में श्रीलंका में हुए आइफ़ा अवॉर्ड्स के दौरान अपनी फ़िल्म '3 इडियट्स' के हिट गाने 'गिव मी सनशाइन' को पेश किया था. बुधवार शाम दिल्ली में मशहूर संगीतकार शंकर महादेवन के साथ उन्होंने दर्शकों के सामने लाइव परफॉर्म किया.

बमन इरानी से बीबीसी संवाददाता शाश्वती सान्याल ने बात की.

आइफ़ा के अपने अनुभव के बारे में बमन कहते हैं, “जब मैं गिटार लेकर स्टेज पर पहुंचा तो लोगों को यकीन ही नहीं हुआ. फिर धीरे-धीरे मैंने गिटार बजाने के साथ-साथ गाना शुरु किया, तो लोगों ने तालियां बजानी शुरु कर दीं.”

बमन कहते हैं कि स्टेज पर मौजूद ऐक्टर अनिल कपूर और सलमान ख़ान ने भी उनकी हौसला अफ़ज़ाई की.

शुरुआत

बमन बचपन से ही गाना और गिटार बजाना चाहते थे। वो कहते हैं, “मैं अक्सर ही पार्टियों में गाता था. मेरे दोस्त कहते थे कि मैं अच्छा गाता हूं. इससे मेरी धीरे-धीरे हिम्मत बढ़ी और तब मैंने आइफ़ा अवॉर्ड्स में गाने का फ़ैसला किया. इसके लिए मैंने एक महीने तक गाने और गिटार बजाने की ट्रेनिंग भी ली.

ज़्यादा शोर-शराबे वाले गाने बमन को नापसंद हैं. बमन कहते हैं, “जिस गाने में आवाज़ ज़्यादा हो और धुन कम, ऐसे गाने मुझे बिलकुल पसंद नहीं हैं. मुझे मधुर गाने भाते हैं.” किशोर कुमार के गाए ‘पल-पल दिल के पास’ और ‘फूलों के रंग से’ गाने बमन के पसंदीदा गाने हैं. इसके अलावा उन्हें ‘कल हो न हो’ भी पसंद है.

प्लेबैक सिंगिंग अभी नहीं

बमन फ़िलहाल शौकिया तौर पर गाते हैं. उनका कहना है, “मैं अपने लिए तो गा सकता हूं लेकिन मैं नहीं समझता मेरी आवाज़ इतनी बढ़िया है कि मैं किसी और ऐक्टर के लिए प्लैबैक दे सकूं. प्लेबैक सिगिंग के बारे में मैंने अभी नहीं सोचा है. ये तो बहुत आगे की बात है.”

संबंधित समाचार