मैं भी आनंदी जैसी हूँ: प्रत्यूषा बनर्जी

प्रत्यूषा बनर्जी
Image caption 'बालिका वधू' की नई 'आनंदी' प्रत्यूषा बनर्जी बन गई हैं

मशहूर टेलीविज़न धारावाहिक 'बालिका वधू' में की नई आनंदी जमशेदपुर की प्रत्यूषा बनर्जी का कहना है कि उन्होंने पहले एपिसोड से ही 'बालिका वधू' देखा है. वह 'आनंदी' जैसी ही हैं और उन्हें किरदार के साथ तालमेल बिठाने में ज़्यादा वक़्त नहीं लगेगा.

इस किरदार के लिए प्रत्यूषा के साथ-साथ लखनऊ की निवेदिता तिवारी और मुंबई की केतकी चितले भी दौड़ में शामिल थीं. प्रत्यूषा का चयन लोगों ने एसएमएस के ज़रिए किया.

सेट पर अपने पहले दिन के बारे में बताते हुए प्रत्यूषा ने पत्रकारों से कहा, "पहली बार कैमरे का सामना करते हुए मैं बहुत नर्वस थी, लेकिन यूनिट के सभी लोगों ने मुझे बहुत सहयोग दिया, मेरा हौसला बढ़ाया."

'बालिका वधू' की शुरुआत से ही जुड़ी रही अविका गौर की अब इससे विदाई हो गई है.

धारावाहिक की कहानी पाँच साल आगे बढ़ गई है. इसमें अब 'आनंदी' बड़ी हो गई है. इस वजह से अविका की जगह नई अभिनेत्री की तलाश की गई, जिसमें प्रत्यूषा को कामयाबी मिली.

इस धारावाहिक की शुरुआत दो साल पहले हुई और इसने बहुत जल्दी लोगों के दिलों में जगह बना ली. ये राजस्थान के एक बेहद परंपरावादी परिवार की कहानी है. कहानी के केंद्र में है 'आनंदी' का किरदार जिसकी बचपन में ही शादी कर दी जाती है.

धारावाहिक में दिखाया गया है कि 'आनंदी' को शादी के बाद किन-किन मुश्किलों का सामना करना पड़ता है.

संबंधित समाचार