'ये हाजी मस्तान की कहानी नहीं है'

'वन्स अपॉन अ टाइम इन मुंबई'
Image caption अजय देवगन और इमरान हाशमी फ़िल्म 'वन्स अपॉन अ टाइम इन मुंबई' में

अभिनेता अजय देवगन का कहना है कि उनकी फ़िल्म 'वन्स अपॉन अ टाइम इन मुंबई' हाजी मस्तान की ज़िंदगी पर आधारित नहीं है.

बीबीसी से बात करते हुए अजय देवगन ने कहा, "लोग बातें कर रहे हैं कि मेरा किरदार हाजी मस्तान के किरदार पर आधारित है. जबकि ऐसा नहीं है. आप जब फ़िल्म देखेंगे तो पाएंगे कि ऐसा कुछ भी नहीं है."

'वन्स अपॉन अ टाइम इन मुंबई' की कहानी सत्तर के दशक के मुंबई पर आधारित है. ये फ़िल्म उस वक़्त की मुंबई के अपराध जगत की कहानी बयां करती है.

फ़िल्म के बारे में बात करते हुए अजय देवगन कहते हैं,"इसमें काम करके सत्तर के दशक की याद ताज़ा हो गई. उस वक़्त मैं बच्चा था. मैंने अपने बचपन की तस्वीर निकाल कर देखी. देखा, कि उस वक़्त मैं कैसे कपड़े पहनता था."

फ़िल्म में इमरान हाशमी, कंगना रानावत और प्राची देसाई की भी अहम भूमिका है.

अपने पात्र के बारे में बात करते हुए कंगना कहती हैं, "मेरा किरदार ज़ीनत अमान और परवीन बाबी से प्रेरित है. ये दोनों जब फ़िल्मों में आईं तो बिलकुल नए तरह का पहनावा लेकर आईं. मेरा किरदार भी कुछ ऐसा ही है."

अजय देवगन के बारे में कंगना कहती हैं, "वो बहुत ही गंभीर अभिनेता हैं. इस फ़िल्म में उन्होंने जैसा अभिनय किया है वो उन्हें राष्ट्रीय पुरस्कार दिलाने के लिए काफ़ी है."

फ़िल्म का निर्देशन मिलन लुथरिया ने किया है. इससे पहले मिलन 'कच्चे धागे' और 'टैक्सी नं. 9211' जैसी फ़िल्में बना चुके हैं.

'वन्स अपॉन अ टाइम इन मुंबई' के बारे में मिलन कहते हैं, "सत्तर के दशक में भारत में कई बदलाव हुए. मुंबई में संगठित अपराध आया. तस्करी जैसे अपराध तेज़ी से बढ़े. फ़िल्मों का संगीत बदला. कई परिवर्तन हुए. ये उसी दौर की कहानी है."

संबंधित समाचार