'सिर्फ़ बॉलीवुड नहीं है भारतीय सिनेमा'

अमोल पालेकर
Image caption बतौर निर्देशक अमोल पालेकर की आने वाली फ़िल्म है 'एंड वन्स अगेन'

जाने माने फ़िल्मकार अमोल पालेकर को इस बात पर आपत्ति है कि सिर्फ़ बॉलीवुड फ़िल्मों को क्यों भारतीय सिनेमा मान लिया जाता है.

अमोल के मुताबिक सिर्फ़ बॉलीवुड ही भारतीय सिनेमा नहीं है. प्रादेशिक फ़िल्में भी भारतीय सिनेमा को समृद्ध करती हैं.

उनका कहना है, "हम सिर्फ़ मसाला फ़िल्मों की बात ही क्यों करते हैं. सिर्फ़ हिंदी फ़िल्मों की बात ही क्यों करते हैं. वो चाहे हिट हों या फ्लॉप, हम हमेशा उन्हीं के बारे में बात करते रहते हैं."

अपनी आने वाली फ़िल्म 'एंड वन्स अगेन' के बारे में चर्चा करते हुए उन्होंने कहा, "मैं कभी बाज़ार की परवाह नहीं करता. सिर्फ़ कहानी पर ही फ़ोकस करता हूं. कहानी में नए कलाकार फ़िट हो रहे हों, तो उन्हें लेता हूं. स्टार्स की ज़रूरत हो, तो उन्हें लेता हूं."

'दायरा','अनाहत','कैरी' और 'समांतर' जैसी फ़िल्में बना चुके अमोल पालेकर शाहरुख और रानी जैसे बड़े सितारों को लेकर 'पहेली' का निर्देशन भी कर चुके हैं.

'एंड वन्स अगेन' की बात करें, तो ये एक अंग्रेजी भाषा की फ़िल्म है, जिसमें अंतरा माली और रितुपर्ण सेन गुप्ता की मुख्य भूमिका है. ये फ़िल्म 13 अगस्त को रिलीज़ हो रही है.

अमोल ने बताया कि ये फ़िल्म भविष्य की तरफ़ देखने और कभी हार ना मानने का संदेश देती है.

इसमें अपने किरदार के लिए अंतरा को सर मुंडाना पड़ा. अमोल कहते हैं "अंतरा ने एक बार भी ना-नुकर नहीं की. साथ ही फ़िल्म में बेहतरीन अभिनय किया है."

'गोलमाल', 'छोटी सी बात','नरम-गरम' और 'चितचोर' जैसी फ़िल्मों के ज़रिए दर्शकों का दिल जीतने वाले अमोल आजकल अभिनय क्यों नहीं कर रहे हैं, ये पूछने पर उन्होंने इसका साफ़-साफ़ जवाब तो नहीं दिया, लेकिन मज़ाकिया लहज़े में कहा "ये पूछना कि यार तुम अभी तक ऐक्टिंग कर रहे हो से तो ज़्यादा अच्छा ही है ये पूछना कि आप आजकल ऐक्टिंग क्यों नहीं कर रहे हो. मैं इसे तारीफ़ की तरह लेता हूँ."

संबंधित समाचार