प्रेम कहानी है लफ़ंगे परिंदे: प्रदीप सरकार

फ़िल्म 'लफ़ंगे-परिंदे' का एक दृश्य
Image caption 'लफ़ंगे परिंदे' आम इंसान की आशाओं और सपनों की कहानी है

'परिणीता' और 'लागा चुनरी में दाग़' जैसी महिला-प्रधान फ़िल्मों के बाद निर्देशक प्रदीप सरकार की नई फ़िल्म 'लफ़ंगे परिंदे' एक प्रेम कहानी है.

इस फ़िल्म दीपिका पादुकोण ने एक दृष्टिहीन लड़की का किरदार निभाया है जिससे नील नितिन मुकेश को प्यार हो जाता है.

फ़िल्म के बारे में प्रदीप सरकार कहते हैं, "जैसा कि फ़िल्म का नाम है, ये फ़िल्म गली के लफ़ंगों के बारे में ही है. ये ऐसे लोग हैं जो सपने देखते हैं और जिनकी ज़िंदगी उम्मीद पर क़ायम है."

यशराज बैनर तले बनी इस फ़िल्म में नील नितिन मुकेश आंखों में पट्टी बांधकर ख़तरनाक करतब करते हैं और दीपिका पादुकोण स्केटिंग करने में माहिर हैं.

इस फ़िल्म के लिए दीपिका और नील को चुने जाने की वजह बताते हुए प्रदीप सरकार कहते हैं, "दीपिका के अंदर एक दृढ़ता है जिसे देखकर लगता है कि वो कभी हार नहीं मानतीं. इस फ़िल्म के किरदार पिंकी पालकर के लिए वो बिलकुल फ़िट हैं. वो हमेशा जीतने का जज़्बा रखती हैं."

वे बताते हैं, "नील नितिन मुकेश के चेहरे पर एक ख़ास तरह की मासूमियत है. फ़िल्म में वो एक प्यारा सा लड़का है जो ज़िंदगी से बहुत कुछ सीखना चाहता है."

दीपिका पादुकोण पहली बार एक दृष्टिहीन लड़की का किरदार निभा रही हैं.

अपने रोल के बारे में वो कहती हैं, "ये रोल मेरे लिए बहुत मुश्किल था क्योंकि इसमें काफ़ी ध्यान लगाने देने की ज़रूरत थी. इस फ़िल्म के लिए छह महीने तो हमने सिर्फ़ अभ्यास ही किया."

फ़िल्म के बारे में वो बताती हैं, "इस फ़िल्म में 'लफ़ंगे' और 'परिंदे' वो हैं जो अपनी ज़िंदगी खुलकर और अपनी शर्तों पर जीना चाहते हैं. वो किसी से डरते नहीं हैं."

Image caption 'लफ़ंगे परिंदे' में नील और दीपिका ने पहली बार साथ काम किया है

दीपिका कहती हैं कि वो अपने आपको पिंकी पालकर के किरदार के काफ़ी क़रीब पाती हैं.

वो कहती हैं, "मैं भी एक खुली सोच की लड़की हूं. मेरे माता-पिता बंगलौर में रहते हैं लेकिन मैं काम की वजह से मुंबई आई और मुंबई में ज़िंदगी आसान नहीं. लेकिन मैं ख़ुश हूं कि मुझे यहां रहकर इतना कुछ सीखने को मिला और अब इतना काम मिल रहा है."

इस फ़िल्म में नील नितिन मुकेश के किरदार का नाम है नंदू जो 'स्ट्रीट फ़ाइटिंग' में माहिर है.

नील कहते हैं, "नंदू की ख़ासियत ये है कि वो एक साथ सख़्त और नर्म दोनों ही है."

वो कहते हैं,"मैं बहुत ख़ुशनसीब हूं कि इतने कम समय में मुझे इतने अलग-अलग तरह के रोल करने को मिले हैं. और 'लफंगे परिंदे' जैसा किरदार हर किसी को नहीं मिलता."

'लफंगे परिंदे' 20 अगस्त को रिलीज़ हो रही है.

संबंधित समाचार