'मुझे अपनी अभिनय क्षमता पर विश्वास है'

  • 10 सितंबर 2010
अभय देओल
Image caption अभय देओल जल्द ही दिखेंगे ज़ोया अख़्तर की फ़िल्म 'ज़िंदगी ना मिलेगी दोबारा' में

हाल ही में रिलीज़ हुई फ़िल्म 'आयशा' के बाद अभय देओल कहते हैं कि उन्हें अपनी अभिनय क्षमता पर पूरा यक़ीन है.

डेव डी, ओए लकी लकी ओए जैसी हिट फ़िल्में करने के बाद आख़िर अभय देओल के अभिनय की क्षमता का सवाल कहां से आया? तो हुआ यूं कि आयशा फ़िल्म सोनम कपूर के ही इर्द- गिर्द घूमती रही. ऐसे में अभय देओल से कई लोगों ने सवाल पूछे कि आख़िर उन्होंने ये फ़िल्म क्यों की जब उन्हें मुख्य रोल नहीं मिला.

इस पर अभय कहते हैं, "मुझे अपनी अभिनय क्षमता पर पूरा यक़ीन है और इसलिए अगर फ़िल्म में मेरा मुख़्य किरदार ना भी हो तो मुझे फ़र्क नहीं पड़ता. अपने अभिनय को लेकर मुझे कोई शक़ नहीं है. मुझे अपने करियर को लेकर कभी असुरक्षा महसूस नहीं होती."

अभय को पुरुषों के परिधान बनाने वाली एक कंपनी ने अपना ब्रांड एंबेसडर बनाया है. इसी मौके़ पर अभय ने ये बातें पत्रकारों से कही.

विज्ञापनों की बात चली तो अभय किन उत्पादों के विज्ञापन करने से परहेज़ करेंगे. इस पर अभय बोले, "मैं कभी सिगरेट का विज्ञापन नहीं करूंगा. साथ ही वो तमाम क्रीम जो गोरापन बढ़ाने का दावा करती हैं,उनके विज्ञापन भी नहीं करूंगा."

अभय के मुताबिक़ इन क्रीम के विज्ञापनों में ज़ोर दिया जाता है कि अगर आप गोरे हो, तभी आपको सुंदर माना जाएगा जो एक ग़लत बात है.

अपने करियर से अभय संतुष्ट हैं. वो कहते हैं कि "मैं प्रयोगात्मक फ़िल्में करते रहना चाहता हूं. अगर आपके लक्ष्य साफ़ हों और आपको अपनी ताक़त और कमज़ोरी पता हो, तो आप अपनी ज़िंदगी में कामयाबी हासिल कर सकते हो."

फ़िलहाल अभय देओल ज़ोया अख़्तर की फ़िल्म 'ज़िंदगी मिलेगी ना दोबारा' करने में व्यस्त हैं.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार