अलग था ऋषि और मेरा रोमांस: नीतू

नीतू कपूर
Image caption नीतू कपूर ने तीन दशक बाद फ़िल्मों में वापसी की है

सत्तर के दशक की मशहूर अदाकारा नीतू सिंह (अब नीतू कपूर) का कहना है कि उनकी और ऋषि कपूर की जोड़ी उस ज़माने में किशोरों को बहुत पसंद थी और शायद यही वजह है कि वो इतनी हिट हुई.

नीतू ने बीबीसी से ख़ास बातचीत में कहा, "उस ज़माने में बस ऋषि और मेरी ही एक किशोर जोड़ी थी. बाक़ि सब बड़े-बड़े कलाकार थे. शायद सबके ज़हन में हमारी जोड़ी की यही छवि बस गई है."

ऋषि कपूर के साथ अपनी पहली मुलाक़ात में बारे में नीतू कहती हैं, "मैं पहली बार उनसे आरके स्टूडियो में मिली थी जहां उनकी फ़िल्म 'बॉबी' की शूटिंग चल रही थी. लेकिन हमारी ठीक से जान-पहचान फ़िल्म 'ज़हरीला इंसान' के सेट्स पर हुई. मुझे पहली बार उनसे मिलकर बिलकुल अच्छा नहीं लगा. वो मुझे बात-बात पर टोकते रहे और मुझे लगा कि वो एक बहुत ही रूखे इंसान हैं. लेकिन फिर आहिस्ता-आहिस्ता दोस्ती हो गई और फिर शादी."

नीतू ने बताया कि भले ही ऋषि और वो एक-दूसरे को पसंद करते थे, उन्हें ये कभी नहीं लगता था कि दोनों की शादी हो जाएगी.

"हम दोनों ने लंबे समय तक डेटिंग की, साथ में घूमे-फिरे भी लेकिन मुझे कभी नहीं लगा कि वो मुझसे शादी करेंगे. फिर एक दिन उन्होंने मुझसे पूछा कि मैं इतनी फ़िल्में क्यों साइन कर रही हूं, क्या मुझे शादी-वादी नहीं करनी है. इसपर मैंने कहा किससे करूं मैं शादी और उन्होंने फ़ौरन कहा मुझसे."

राजकपूर की यादें

नीतू की अपने ससुर राज कपूर को लेकर भी कई सुनहरी यादें हैं.

"लोग उनसे बहुत डरते थे लेकिन मुझे कभी उनसे डर नहीं लगा. मैं रोज़ उनके कमरे में जाकर उनसे बातें करती थी और जब मैं बात करके बाहर निकलती थी तो लगता थी कि मैंने उनसे कितना कुछ सीख लिया है."

"एक बार मैंने उनके लिए दाल बनाई और उन्होंने बहुत चाव से खाई लेकिन जब मैंने चखी तो मुझे एहसास हुआ कि वो बहुत बुरी थी. वो इतने अच्छे इंसान थे कि उन्होंने कुछ भी नहीं कहा."

Image caption ऋषि और नीतू की जोड़ी युवा रोमांस का प्रतीक बन गई थी

राज कपूर अपने काम को कितनी बारीकी से करते थे इससे जुड़ी यादें भी नीतू कपूर ने बीबीसी के साथ बांटीं.

"जब वो 'प्रेम रोग' बना रहे थे तो उन्होंने घर में लोगों के नाम भी किरदारों के नाम पर रख दिए थे. वो बिलकुल अपने काम में डूब जाते थे."

नीतू कपूर ने अपने बेटे रणबीर कपूर के बारे में भी बीबीसी से बातचीत की.

"मुझे नहीं लगता कि रणबीर से बढ़िया बेटा किसी मां को मिल सकता है. वो मेरा इतना ख़्याल रखता है कि पूछिए मत."

"मेरी हर परेशानी को वो मिनटों में सुलझा लेता है."

मीडिया आए दिन रणबीर कपूर के प्रेम प्रसंगों के बारे में छापती रहती है. तो इस पर नीतू की क्या प्रतिक्रिया है? वे कहती हैं, "मैं रणबीर की निजी ज़िंदगी में बिलकुल दखल नहीं देती. वो जो करता है सही ही करता है."

नीतू की नई फ़िल्म 'दो दूनी चार' हाल ही में रिलीज़ हुई है जिसमें उन्होंने क़रीब तीस साल बाद ऋषि कपूर के साथ काम किया है.

संबंधित समाचार