'...तभी तो सुपरस्टार हूं प्यारे'

  • 26 फरवरी 2011
शाहरुख़ ख़ान इमेज कॉपीरइट bb
Image caption 'मुग़ल-ए-आज़म' पर बनी डॉक्यूमेंट्री लॉन्च करने शाहरुख़ अपने लंबे बालों वाले लुक के साथ पहुंचे.

अभिनेता शाहरुख़ ख़ान ने अपने अभिनय से तो अपने करोड़ों प्रशंसक बनाए ही हैं, हाज़िर जवाबी के मामले में भी उन्होंने अपने आपको कई बार उस्ताद साबित किया है.

मुंबई में शाहरुख़ ख़ान 60 के दशक की क्लासिक 'मुग़ल-ए-आज़म' पर बनी डॉक्यूमेंट्री फ़िल्म को लॉन्च करने लंबे बालों वाले अपने नए लुक में पहुंचे. ये लुक उन्होंने अपनी आने वाली फ़िल्म 'डॉन 2' के लिए रखा है.

एक पत्रकार ने उनसे पूछा कि एक सप्ताह पहले तक तो उनके छोटे बाल थे. इतनी जल्दी कैसे बाल इतने लंबे हो गए. इस पर शाहरुख़ ख़ान ने कहा, "भैया इसलिए तो मैं सुपरस्टार हूं और आप नहीं. मैं कुछ भी कर सकता हूं."

शाहरुख़ ने कहा कि उन्हें लंबे बाल रखने में बहुत परेशानी हो रही है. वो बोले, "सच कहता हूं, लंबे बाल धोने में और उनके साथ सोने में बहुत तकलीफ़ होती है. इसी वजह से मेरी नज़रों में महिलाओं और लड़कियों की इज़्ज़त और बढ़ गई है, क्योंकि उन्हें तो सारी ज़िंदगी लंबे बालों के साथ बितानी पड़ती है."

म़ुग़ल-ए-आज़म पर डॉक्यूमेंट्री

'मुग़ल-ए-आज़म' पर बनी इस डॉक्यूमेंट्री फ़िल्म को इसके निर्देशक के आसिफ़ के बेटे अकबर आसिफ़ और शाहरुख़ की कंपनी रेड चिलीज़ एंटरटेनमेंट ने मिलकर बनाया है.

शाहरुख़ के मुताबिक 'मुग़ल-ए-आज़म' के प्रिंट को अब तक कैसे सुरक्षित रखा गया. कैसे इसे रंगीन बनाया गया, इन्हीं सब प्रयासों के बारे में इस डॉक्यूमेंट्री में बताया गया है.

इमेज कॉपीरइट bb
Image caption इस मौके पर शाहरुख़ बोले कि वो दिलीप कुमार के ज़बरदस्त प्रशंसक हैं.

वो कहते हैं, "मुग़ल-ए-आज़म' जैसी क्लासिक को संरक्षित करना बहुत ज़रूरी है. ये हमने देखी है. लेकिन हमारी अगली पीढ़ी को भी ऐसी महान फ़िल्मों के बारे में जानकारी होनी चाहिए. इसी वजह से इनका संरक्षण बहुत ज़रूरी है."

उन्होंने ये भी कहा कि वैसे तो वो रीमेक फ़िल्मों के विरोधी नहीं है, लेकिन मुग़ल-ए-आज़म जैसी महान फ़िल्मों का रीमेक बनाने के बारे में सोचना भी नहीं चाहिए.

शाहरुख़ के मुताबिक पृथ्वीराज कपूर, दिलीप कुमार और मधुबाला के महान अभिनय की बराबरी करना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है.

इस मौके पर शाहरुख़ ने महान अभिनेता दिलीप कुमार से अपनी पहली मुलाकात का ज़िक्र करते हुए कहा, "जब मैं मुंबई में दिलीप साहब और सायरा जी से मिला तो उन्होंने मेरे बाल हिलाते हुए कहा कि अगर उनका बेटा होता तो वो मेरी तरह ही दिखता."

शाहरुख़ बोले कि दिलीप कुमार का प्रभाव पूरे भारतीय फ़िल्म जगत में है और उन्हीं की वजह से भारतीय सिनेमा को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इतनी पहचान मिली.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार