ट्रेजेडी क्वीन मीना कुमारी का हंसमुख रूप

  • 23 मई 2011
मीना कुमारी
Image caption स्वर्गीय मीना कुमारी की निजी ज़िदंगी और फ़िल्म करियर के बारे में किताब जल्द ही प्रकाशित होने वाली है.

पाकीज़ा, साहिब बीबी और ग़ुलाम, दिल अपना और प्रीत पराई, और बैजू बावरा जैसी अनगिनत फ़िल्मों में गंभीर किस्म के रोल करने वाली मीना कुमारी ‘ट्रेजेडी क्वीन’ के नाम से मशहूर थीं.

लेकिन ये शायद बहुत कम लोग ही जानते होंगे कि निजी ज़िंदगी में वो काफ़ी ख़ुशमिजाज़ थीं.

मीना कुमारी की निजी और फ़िल्मी ज़िंदगी के इसी तरह कुछ और अनछुए पहलू और बातें जल्द ही एक किताब की शक्ल में लोगों के सामने होंगी.

किताब को मीना कुमारी के सौतले बेटे शानदार अमरोही और लेखिका बरखा रॉय लिख रहे हैं.

किताब के बारे में बरखा रॉय ने बताया, “इस किताब में मीना कुमारी के बारे में बहुत सी ऐसी बाते हैं जो हर किसी को भी नहीं पता. ये बातें शानदार अमरोही बताएंगे जिनकी वो छोटी अम्मी थीं.”

शानदार अमरोही, मीना कुमारी के पति कमाल अमरोही के बेटे हैं. अपनी छोटी अम्मी के बारे में शानदार कहते हैं, “मीना कुमारी निजी ज़िंदगी में ख़ुशमिजाज़ थीं, उनमें मासूमियत थी, बचपना था. वो बारिश का मज़ा लेने के लिए, उसमें भीगने के लिए छत पर चढ़ जाती थीं.”

शानदार कहते हैं कि हालांकि लोग मीना कुमारी को ट्रेजेडी क्वीन की तरह से जानते हैं लेकिन उन्होंने मिस मैरी, हलाकू, और कोहीनूर जैसी फ़िल्मों में कॉमेडी रोल भी किए.

किताब हिंदी, अंग्रेज़ी और उर्दू, तीनों भाषाओं में लिखी जा रही है. हिंदी में किताब का शीर्षक ‘मेरा कुसूर क्या है’ और अंग्रेज़ी में ‘फ़्रॉम नोहवेयर टू समवेहयर’ होगा. किताब का अंग्रेज़ी संस्करण पहले प्रकाशित होगा और उसके बाद हिंदी और उर्दू अनुवाद. शानदार अमरोही ने बताया कि किताब इस साल सितम्बर तक प्रकाशित हो जाएगी.

संबंधित समाचार