मुझे अमिताभ बच्चन से जलन होती है- हेमा मालिनी

हेमा मालिनी, अमिताभ बच्चन इमेज कॉपीरइट official website
Image caption 'बाग़बान' के एक दृश्य में हेमा मालिनी और अमिताभ बच्चन. दोनों एक बार फिर 'बुड्ढा होगा तेरा बाप' में दिखेंगे.

ड्रीम गर्ल हेमा मालिनी और अमिताभ बच्चन ने साथ में नसीब, सत्ते पे सत्ता, बाग़बान और बाबुल जैसी फ़िल्मों में साथ काम किया. अब दोनों फिर नज़र आएंगे एबी कॉर्प की अगली फ़िल्म 'बुड्ढा होगा तेरा बाप' में.

हेमा, अमिताभ को शानदार अभिनेता होने के साथ-साथ काफ़ी ख़ुशकिस्मत भी मानती हैं.

मुंबई में 'बुड्ढा होगा तेरा बाप' के प्रमोशन पर हेमा ने कहा, "इस उम्र में भी उन्हें इतने बढ़िया और चैलेंजिंग रोल करने को मिल रहे हैं. जो मेरे जैसी अभिनेत्री को अब नहीं मिलते. इसलिए मुझे उनसे जलन होती है."

हेमा मालिनी और अमिताभ 70 के दशक की फ़िल्म 'कसौटी' में पहली बार साथ नज़र आए थे. हेमा जी के मुताबिक़ तब से लेकर अब तक अमिताभ बच्चन में कोई बदलाव नहीं आया.

वो कहती हैं, "अमिताभ अब भी उसी संजीदगी से अभिनय करते हैं. अमित जी जो रोल करते हैं उसमें जान डाल देते हैं. उनके जैसे ज़बरदस्त ऐक्टर के साथ काम करना हमेशा बेहतरीन अनुभव रहता है."

हेमा ने अमिताभ की तारीफ़ जारी रखते हुए कहा कि अच्छा अभिनय तो काफ़ी सारे कलाकार कर लेते हैं, लेकिन अमिताभ बेहतरीन अभिनय, शानदार डांसर होने के साथ-साथ ज़ोरदार गायक भी हैं. वो सब कुछ कर सकते हैं. मैंने उन्हें एक बार सितार बजाते हुए भी देखा. यक़ीन जानिए वो सितार भी बहुत अच्छा बजा रहे थे.

'ड्रीम गर्ल का ख़िताब ऐश्वर्या राय को'

इमेज कॉपीरइट bbc
Image caption हेमा मालिनी अपना ड्रीम गर्ल का 'ख़िताब' ऐश्वर्या राय बच्चन को देना चाहती हैं.

पूरी दुनिया में हेमा मालिनी के प्रशंसक उन्हें 'ड्रीम गर्ल' के नाम से भी जानते हैं.

आज के दौर में वो किसे 'ड्रीम गर्ल' के ख़िताब से नवाज़ना चाहेंगी. ये पूछने पर हेमा बोलीं, "इस दौर में ढेर सारी ख़ूबसूरत अभिनेत्रियां हैं. सभी एक से बढ़कर एक हैं. लेकिन फिर भी मैं ऐश्वर्या राय को ये ख़िताब देना चाहूंगी."

हेमा मालिनी आजकल फ़िल्म 'टैल मी ओ ख़ुदा' के निर्देशन में व्यस्त हैं. इसमें उनके पति धर्मेंद्र और बेटी ईशा देओल पहली बार साथ में अभिनय कर रहे हैं.

पति को निर्देशित करना कैसा अनुभव रहा. ये पूछने पर हेमा बोलीं, "शूटिंग के पहले दिन मुझे लगा कि पता नहीं वो कैसे रिएक्ट करेंगे. लेकिन बाद में सब कुछ नॉर्मल हो गया. वो बड़े ध्यान से मेरी बात सुनते हैं, क्योंकि उन्हें मालूम है कि मैं जो करने जा रही हूं वो मुझे अच्छी तरह से पता है."

संबंधित समाचार