'ग्लैमर के लिए अंगप्रदर्शन ज़रूरी नहीं'

  • 15 जुलाई 2011

दक्षिण भारतीय फ़िल्मों से एक और हिरोइन काजल अग्रवाल फ़िल्म 'सिंघम' से बॉलीवुड में एंट्री करने जा रही हैं. अजय देवगन के साथ अपना बॉलीवुड सफ़र शुरु कर रही काजल का मानना है कि उन्हें ग्लैमरस दिखने में कोई परेशानी नहीं है.

साथ ही काजल ये भी स्पष्ट करती है कि ग्लैमरस होने और कम कपड़े पहनने के बीच कोई संबध नहीं है.

काजल कहती हैं, “आप साड़ी पहन कर या फिर एक पूरी बाजू की टी शर्ट और जींस पहन कर भी ग्लैमरस दिख सकते हैं.ग्लैमरस दिखने के लिए कम कपड़े ज़रुरी नहीं हैं.”

काजल कहती हैं कि ग्लैमर शब्द का हम अक्सर ग़लत इस्तेमाल करते हैं. सिर्फ एक सुंदर चेहरा भी ग्लैमरस हो सकता है.

काजल कहती हैं, “मुझे हॉट या सेक्सी दिखने में कोई आपत्ति नहीं है, लेकिन अंगप्रदर्शन एक सीमा में होना चाहिए, जहां ये सभ्य लगे. ये सब एक सीमा में होना चाहिए.”

काजल अपनी पहली बॉलीवुड फ़िल्म में ही अजय देवगन के साथ काम करके काफ़ी उत्साहित है.

काजल कहती हैं,“मैं अजय देवगन के साथ शुरुआत कर रही हूँ. ये मेरे लिए बहुत अच्छा है. अभिनय अजय के लिए इतना स्वाभाविक हैं कि मैंने उनसे काफ़ी कुछ सीखा है.”

ग़ौरतलब है कि एक्शन फ़िल्म 'सिंघम' एक दक्षिण भारतीय फ़िल्म का रीमेक है, जिसे रोहित शेट्टी ने निर्देशित किया है.

इस फ़िल्म में अजय देवगन एक लंबे अंतराल के बाद एक्शन करते नज़र आएंगे.

संबंधित समाचार