'मिरांडा हाउस तो रोज़ाना जाना होता था'

  • 28 जुलाई 2011
इमेज कॉपीरइट PR Agency

बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्चन का कहना है कि वो कॉलेज के दिनों में गर्ल्स कॉलेज मिरांडा हाउस के चक्कर लगाया करते थे.

फ़िल्म आरक्षण के प्रचार के सिलसिले में आयोजित एक प्रेस वार्ता में अमिताभ बच्चन ने कहा. “कॉलेज में पढ़ाई भी होती थी लेकिन हम लोग घूमा फिरा ज़्यादा करते थे.”

इसी बातचीत के दौरान जब दिल्ली यूनिवर्सिटी के मिरांडा हाउस का ज़िक्र आया तो अमिताभ बच्चन ने हँसते हुए कहा, “मिरांडा हाउस तो हमारा रोज़ाना जाना होता था. भले ही हमारी बस वहां से चले या ना चले, हम लोग वहाँ ज़रुर जाते थे.”

गौरतलब है कि फिल्म आरक्षण में अमिताभ एक कॉलेज प्रिंसिपल की भूमिका निभा रहे हैं.

इस मौके पर अमिताभ दिल्ली यूनिवर्सिटी की तारीफ़ करना भी नहीं भूले. अमिताभ ने कहा. “दिल्ली यूनिवर्सिटी का माहौल बड़ा ही सुंदर था, अद्भुत था. ऑक्सफ़ोर्ड और केम्ब्रिज का नमूना आप दिल्ली यूनिवर्सिटी में देखेंगे. सारे कॉलेज अलग अलग हैं लेकिन एक ही स्तर पर हैं.”

मेरा वो निर्णय ग़लत था

अमिताभ कहते है कि भले ही वो अलग अलग कॉलेजों में थे लेकिन दोस्तों के साथ आना-जाना, मिलना जुलना बहुत था.

अमिताभ को ये भी मलाल है कि वो कला जगत की पढ़ाई नहीं कर पाए.

अमिताभ ने कहा, “सीनियर केम्ब्रिज से पढ़ाई करने के बाद मैंने भी दिल्ली यूनिवर्सिटी में साइंस की पढ़ाई की. लेकिन मुझे लगता है कि मेरा वो निर्णय ग़लत था, मुझे साइंस नहीं लेनी चाहिए थी.”

अमिताभ ने कहा कि अगर उन्हें पता होता कि उन्हें कलाकार बनना है तो किसी ऐसे संस्थान में जाते जहाँ वो इस कला को और सीख पाते.

अमिताभ स्वीकार करते हैं कि उन्हें इसके बारे में जानकारी नहीं थी इसलिए वो ये नहीं कर पाए.

संबंधित समाचार