संगीत जोड़ता है दिल का कनेक्शन

इमेज कॉपीरइट PR Agency

बीबीसी हिंदी एफ़एम का विशेष कार्यक्रम 'फ़्रेंडशिप बियॉन्ड बॉर्डर्स' जिसमें भारत और पाकिस्तान के जाने-माने गायक-संगीतकार संगीत, आपसी भाईचारे और शांति के बारे में बात कर रहे हैं.

कार्यक्रम की चौथी कड़ी भारतीय गायक मोहित चौहान के साथ

बॉलीवुड के प्लेबैक सिंगर मोहित चौहान कहते हैं कि संगीत का दिल से कनेक्शन है और संगीत सीमाओं के परे जाता है.

मोहित कहते हैं, “संगीत का आपके दिल से कनेक्शन है, आपके सुकुन से कनेक्शन है. आप कोई भी गाना सुनें,अगर उसका संगीत आपको अच्छा लगे तो वो आपके ज़ेहन में उतरेगा.”

मोहित उदहारण देते हैं कि भारत का म्यूज़िक जब पाकिस्तान जाता है, तो वो पाकिस्तान के लोगों के दिलों को छूता है. भारतीय फ़िल्मी संगीत भी पाकिस्तान में बहुत सुना जाता है, जो एक तरह से वो कनेक्शन का काम करता है.

मोहित के अनुसार संगीत दोनों देशों के बीच एक रिश्ता क़ायम करने का अच्छा साधन है.

मोहित उम्मीद करते हैं कि ये संपर्क राजनीतिक स्तर पर भी हो, “अगर राजनीतिक चीज़ें भी ऐसे मोड़ पर आ जाएँ कि लगे हम पड़ोसी हैं और हमें प्यार से अच्छे से रहना चाहिए तो इससे बेहतर कुछ नहीं हो सकता.”

मोहित का मानना है कि भारत और पाकिस्तान दोनों को समझना चाहिए कि पड़ोसी देशों का प्यार और भाईचारा दोनों देशों के लिए फ़ायदेमंद होगा.

मोहित कहते हैं, “हम ये समझ लें कि हम पड़ोसी हैं और जितना प्यार से-शांति से रहें उतना अच्छा है. अगर ऐसा होता है तो दोनों देश बहुत सारा व्यापार, बहुत सार पर्यटन कर सकते हैं दोनों देश प्रगति की राह पर चल सकते हैं. अगर आपस का टेंशन खत्म करेंगे तो सब लोगों को सुकून है.”

मोहित कहते हैं कि भारत और पाकिस्तान के बीच जो भी मुद्दे हैं वो राजनीतिक हैं, “दोनों देशों की आम जनता में कोई फ़र्क नहीं है. मुझे लगता है कि फ़र्क जैसी बातें राजनीतिक हैं. आम जनता को तो अपनी दो रोटी से और भजन करने से सुकून मिलता है.”

संबंधित समाचार