'यक़ीन था कि मैं अश्लील नहीं लगूंगी'

इमेज कॉपीरइट PR Picture

फ़िल्म 'डर्टी पिक्चर' में एक बोल्ड क़िरदार निभा रहीं अभिनेत्री विद्या बालन को भरोसा था कि वो इस फ़िल्म में अश्लील नहीं लगेंगी.

इस फ़िल्म का प्रोमो जारी करने के अवसर पर मंगलवार को मुम्बई में अयोजित एक समरोह में विद्या ने ये बात कही.

जब विद्या से पूछा गया कि क्या इस किरदार को निभाते वक्त उन्होंने असहज महसूस किया, तो उन्होंने कहा, “नहीं, मुझे क़तई असहज नहीं लगा. मुझे पूरा भरोसा था कि मैं सही निर्देशक के हाथो में हूँ. मुझे यक़ीन था कि मैं अश्लील नहीं लगूगीं. और अगर आप भरोसे के साथ कुछ करें तो वो अच्छा ही होता है.”

विद्या कहती हैं कि महिला होने का जो ख़ूबसूरत एहसास उन्हें इस फ़िल्म को करते वक्त हुआ, वो पहले कभी नहीं हुआ था.

विद्या कहती हैं, “इस फ़िल्म में इंद्रधनुष की तरह महिला के हर रंग को दिखाया गया है. भले ही कुछ लोगों को इसे पचाने पाने में परेशानी हो, लेकिन महिलाएं ज़रुर मेरी बात से सहमत होंगी.”

इस मौके पर विद्या ने ये भी कहा कि उन्हें आश्चर्य हुआ कि कैसे निर्देशक मिलन लूथरिया और निर्माता एकता कपूर ने उनके बारे में सोचा.

विद्या कहती है, “अगर इस फ़िल्म में मेरा काम पसंद किया जाता है तो इसका पूरा श्रेय निर्माता और निर्देशक का होगा. मैंने शुरुआत में ही कह दिया था कि मैं इस फ़िल्म में मिलन लूथरिया का हाथ पकड़कर चलने वाली हूँ.”

फ़िल्म 'डर्टी पिक्चर' में विद्या का किरदार अस्सी के दशक की मशहूर दक्षिण भारतीय अभिनेत्री सिल्क स्मिता से प्रेरित है.

फ़िल्म में विद्या बालन के साथ नसीरुद्दीन शाह, तुषार कपूर और इमरान हाशमी भी दिखाई देगें. फ़िल्म दिसंबर में रिलीज़ हो रही है.

संबंधित समाचार