'पॉप आर्ट' के जनक की मौत

रिचर्ड हेमिल्टन की कलाकृति इमेज कॉपीरइट Richard Hamilton Bridgeman
Image caption हेमिल्टन की प्रसिद्ध कलाकृति जिसके बाद उन्हें पॉप आर्ट का जनक कहा जाने लगा.

मंगलवार को ब्रिटेन के पॉप आर्ट कलाकार रिचर्ड हेमिल्टन का 89 वर्ष की उम्र में देहांत हो गया है.

हेमिल्टन की सबसे विख्यात कृति 1956 में एक कोलाज था जिसमें एक बॉडीबिल्डर और एक महिला को दिखाया गया था. इस कोलाज के बाद उन्हें लोग ‘पॉप के जनक’ कहने लगे थे.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption दुनिया के कई शहरों में अगले वर्ष उनका कला का प्रदर्शन किया जाएगा.

उनकी मौत का ऐलान गेगोसिएन गैलरी ने ये कहते हुए किया है कि कला जगत ने अपने एक पुरोधा को खो दिया है.

रिचर्ड हेमिल्टन मौत से पहले अपनी एक प्रदर्शनी के लिए काम कर रहे थे. उनकी ये प्रदर्शनी अगले साल लंदन, लॉस एंजिलस, फ़िलाडेल्फ़िया और मैड्रिड में लगने वाली है.

दुनिया के कई हिस्सों में आर्ट गैलरी चलाने वाले लैरी गगोसिएन ने कहा, “ये हम सबके लिए बड़ा ही दुखद दिन है. हमारे विचार हेमिल्टन की पत्नी रीटा और पुत्र रॉड के साथ हैं.”

पिछले साल बीबीसी के साथ एक बातचीत में हेमिल्टन ने कहा था, “मैंने हमेशा वही किया है जो मैंने करना चाहा है और इस मामले में मैं हमेशा ख़ुशनसीब रहा हूं. ”

अपने करियर के दौरान हेमिल्टन ने अपनी कला का प्रदर्शन दुनिया की कुछ सबसे विख्यात आर्ट गैलरियों में किया था.

हेमिल्टन ने राजनीतिक मुद्दे पर भी कला से संबंधित कई प्रयोग किए और उनके चित्रों में दूसरे विश्व युद्ध के बाद आए उपभोक्तावाद को भी दर्शाया गया है.

संबंधित समाचार