शाहरुख़ को किया नज़र अंदाज़

शाहरुख़ ख़ान इमेज कॉपीरइट pr
Image caption शाहरुख़ ख़ान की फ़िल्म रा.वन इस दिवाली पर रिलीज़ हो रही है.

एक कहावत है, 'देर आये दुरुस्त आये', लगता है कि सुपरस्टार शाहरुख़ ख़ान ने ये कहावत किताबों से निकाल कर असल ज़िंदगी में कुछ ज्यादा ही गंभीरता से ले ली है. तभी तो आज कल वो जिस भी प्रेस कॉन्फ्रेंस में आते हैं, देर से ही आते हैं.

शाहरुख़ आजकल जोर-शोर से अपनी आनेवाली फ़िल्म रा.वन को प्रमोट कर रहे हैं. जगह जगह प्रेस कॉन्फ्रेंस भी कर रहे हैं. लेकिन समस्या बस इतनी सी है की वो हर कॉन्फ्रेंस में कुछ मिनट नहीं बल्कि कुछ घंटे देर से पहुंच रहे हैं.

बुधवार को भी मुंबई में एक ऐसी ही प्रेस कॉन्फ्रेंस हुई, जहां शाहरुख़ तीन घंटे देर से आये. और पत्रकार उनका इंतज़ार करते करते थक गए. जब आख़िरकार शाहरुख़ मीडिया से रूबरू हुए, तो एक पत्रकार ने उनसे पूछ डाला कि भई दिए गए टाइम से दो-दो, तीन-तीन घंटे देर से क्यों आते हैं शाहरुख़?

पत्रकार ने तो शाहरुख़ को ये भी सुना दिया की उनके देर से आने के कारण पत्रकारों का बहुत समय बर्बाद होता है. वो घर भी देर से पहुंचते हैं. साथ ही उस पत्रकार ने शाहरुख़ से ये भी अनुरोध किया की अगर उन्हें देर से ही आना है तो वो आयोजकों को पहले से बता दिया करें, ताकि पत्रकारों का समय ख़राब न हो.

लगता है कि पत्रकार के सवाल से शाहरुख़ को तुरंत अपनी ग़लती का एहसास हुआ और उन्होंने देर से आने की माफ़ी मांग डाली. साथ ही शाहरुख़ बोले, ''आगे से मैं इवेंट आयोजित करने वालों को सही समय के बारे में बता दूंगा और आप सब तक भी संदेश पहुंच जायेगा. मैं एक बार फिर से आप सब से देर से आने की माफ़ी चाहता हूं.''

लेकिन शाहरुख़ के माफ़ी मांग लेने के बाद भी पत्रकारों का गुस्सा शायद शांत नहीं हुआ क्योंकि एक घंटे लंबी चली इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में किसी भी पत्रकार ने शाहरुख़ से कोई सवाल नहीं किया.

संबंधित समाचार