कैसे करूं इस एहसास को बयां: अभिषेक

  • 16 दिसंबर 2011
अभिषेक और ऐश्वर्या बच्चन इमेज कॉपीरइट pr
Image caption अभिषेक और ऐश्वर्या चाहते हैं कि वो अपनी बेटी का नाम 'अ' अक्षर से लिखें.

फ़िल्मों में पिता का रोल निभाना और असल ज़िन्दगी में पिता बनना दोनों ही बहुत अलग अलग बातें हैं. भले ही फ़िल्म 'पा' में अभिषेक बच्चन ने एक पिता की भूमिका निभाई हो लेकिन अब जब असल ज़िन्दगी में वो एक पुत्री के पिता है तो उन्हें नहीं पता कि वो कैसे अपने एहसासों को बयां करें.

अभिषेक को पिता बने ठीक एक महीना हो गया है लेकिन अभी तक भी वो उन शब्दों को नहीं खोज पाए हैं जिनके ज़रिए वो अपनी भावनाओं को दुनिया के सामने रख सकें.

बीबीसी के साथ एक ख़ास बातचीत में अभिषेक बोले, ''पिता बनना बहुत मज़ेदार है लेकिन पिता बन कर मैं कैसा महसूस कर रहा हूं ये मैं आपको शब्दों में नहीं बता सकता.''

अभिषेक कहते हैं आजकल वो जहां भी जाते हैं सब उनसे बस यही सवाल करते हैं कि पिता बनने के बाद उन्हें कैसा लग रहा है लेकिन उनके पास इसका कोई सही जवाब नहीं होता, हां ये ज़रूर है कि वो बहुत खुश हैं.

अभिषेक हमेशा से चाहते थे कि उन्हें एक बेटी ही पैदा हो और उनकी ये तमन्ना पूरी हो जाने के बाद वो सातवें असमान पर थे.

अभिषेक की पत्नी ऐश्वर्या राय ने पिछले महीने 16 नवंबर को मुंबई में एक बेटी को जन्म दिया था. जहां पत्नी ऐश्वर्या अभी घर पर अपनी बेटी की देख-रेख कर रही हैं, वहीं अभिषेक अपनी आनेवाली फ़िल्म 'प्लेयर्स' को प्रमोट करने में लग गए हैं.

'प्लेयर्स' का निर्देशन किया है अब्बास-मस्तान की जोड़ी ने. फ़िल्म में अभिषेक के साथ हैं बिपाशा बसु, सोनम कपूर, सिकंदर खेर और नील नितिन मुकेश. ये फ़िल्म हॉलीवुड की फ़िल्म 'द इटालियन जॉब' का आधिकारिक रीमेक है.

ये फ़िल्म 6 जनवरी को सिनेमाघरों में पहुंच रही है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार