लेखक बनना चाहती थी- सोनम कपूर

प्लेयर्स इमेज कॉपीरइट bbc

हिंदी फ़िल्मों की अभिनेत्री सोनम कपूर असल में ऐक्टिंग नहीं बल्कि लेखन करना चाहती थीं. वो कहती हैं कि ये महज़ इत्तेफ़ाक़ था जो वो अभिनेत्री बन गईं.

ये बात सोनम कपूर ने बीबीसी से विशेष बातचीत में कही.

सोनम कपूर ने कहा, "मेरी योजना थी कि मैं फ़िल्मों के लिए कहानियाँ लिखूँ. मुझे लगा कि संजय लीला भंसाली बड़ी ही खास फ़िल्में बनाते हैं और मुझे उनके साथ कैमरे के पीछे काम करना चाहिए."

लेकिन शायद सोनम कपूर की किस्मत में फ़िल्म अभिनेत्री बनना ही लिखा था.

सोनम कपूर कहती हैं, " जब मैं संजय लीला भंसाली के साथ काम करने के मकसद से उनसे मिली तो उन्होंने मुझे देखते ही कहा कि मैं तुम्हें अपनी फ़िल्म में लेना चाहता हूँ."

इस प्रस्ताव पर सोनम कपूर के पिता अनिल कपूर की क्या प्रतिक्रिया थी, ये पूछे जाने पर सोनम कपूर कहती हैं, " पापा ने कहा कि अगर ये करने से तुम्हें खुशी मिलती है तो तुम कर लो. ये चुनौती है तुम सिर्फ 19 साल की ही हो, अगर एक दो साल बाद इसे छोड़ना चाहो तो छोड़ देना."

तो अब सोनम कपूर की अभिनय को लेकर क्या राय है, सोनम कहती हैं, "पापा की सलाह पर मैंने अभिनय के क्षेत्र में किस्मत आजमाई और मैं मुझे अब इसमें मज़ा आने लगा है."

सोनम कपूर कहती हैं कि पहले उनका ख़ासा वज़न था और उन्हें दुबला पतला दिखने के लिए बहुत मेहनत करनी पड़ी. सोनम के मुताबिक़ अब भी उन्हें फ़िटनेस के लिए बहुत मेहनत करनी पड़ती है जो उन्हें पसंद नहीं.

इस हफ़्ते सोनम कपूर की फ़िल्म प्लेयर्स रिलीज़ हो रही है, जिसमें अभिषेक बच्चन, बिपाशा बसु, बॉबी देओल और नील नितिन मुकेश की भी अहम भूमिका है.

संबंधित समाचार