सलमान को अवॉर्ड क्यों नहीं !

सलमान खान इमेज कॉपीरइट bbc
Image caption सलमान की 'रेडी' और 'बॉडीगार्ड' सुपरहिट रहीं.

हर साल बॉलीवुड में कई पुरस्कार समारोह होते हैं और कई बार इन समारोहों में दिए जाने वाले पुरस्कारों पर सवाल खड़े हो जाते हैं. हाल ही में दिए गए साल 2011 के लिए स्क्रीन अवार्ड्स और इन पर भी प्रश्न चिन्ह लग रहे हैं.

साल की दो सबसे सफल फ़िल्में देने के बाद भी अगर किसी अभिनेता को किसी पुरस्कार समारोह में पुरस्कार मिलना तो दूर अगर नामांकन भी न मिले तो ये बात थोड़ी अजीब तो लगती ही है.

बात हो रही है सलमान खान की. सलमान ने 2011 में पहले ‘रेडी’ और फिर ‘बॉडीगार्ड’ जैसी ब्लॉकबस्टर फ़िल्में दी लेकिन इसके बावजूद उन्हें स्क्रीन अवार्ड्स में कोई नामांकन तक नहीं मिला.

सलमान खान को स्क्रीन अवार्ड्स में कोई भी नामांकन ना मिलने से सिर्फ मीडिया ही नहीं बल्कि खुद बॉलीवुड भी हैरान है. हाल ही में मुंबई में ये पुरस्कार दिए गए.

अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा कहती हैं, ''मुझे तो यकीन ही नहीं हो रहा कि सलमान खान को इन अवार्ड्स में कोई नामांकन तक नहीं मिला. मुझे ऐसी उम्मीद बिलकुल नहीं थी. मेरे विचार में तो सलमान को बॉडीगार्ड के लिए ज़रूर नामांकित किया जाना चाहिए था.’’

जब यही सवाल पत्रकारों ने फ़िल्मकार करण जौहर से पूछा तो गोल-मोल जवाब देते हुए वे बोले, ''आप ये सवाल स्क्रीन से ही क्यों नहीं पूछ लेते. ये उनका फैसला है, मैं इस बारे में कुछ नहीं जनता. मैं तो जूरी का हिस्सा भी नहीं था.''

दीपिका पादुकोण भी इस बात से हैरान थी कि सलमान खान को स्क्रीन अवार्ड्स की किसी भी श्रेणी में कोई भी नामांकन नहीं मिला.

अभिनेत्री जूही चावला ने भी सलमान के नामांकित ना होने पर हैरानी जताते हुए कहा, ''ज़रा आप ही पूछिए कि सलमान को क्यों नामांकित नहीं किया गया. मैं तो कहती हूं मेरी फिल्म 'आइएम' को भी नामांकन मिलना चाहिए था, वो बहुत अच्छी फ़िल्म थी. कम से कम 'क्रिटिक्स' की लिस्ट में तो इस फ़िल्म को होना ही चाहिए था.''

स्क्रीन अवार्ड्स की जूरी में इस बार निर्देशक कुणाल कोहली भी शामिल थे. जब पत्रकारों ने कुणाल से सलमान खान के बारे में सवाल किया तो वे बोले, ''बिलकुल सही बात है कि इस बार स्क्रीन में सलमान खान को कोई नामांकन नहीं मिला लेकिन जूरी में मेरे अलावा सात लोग और थे. उन सब से पूछिए कि सलमान को नामांकित क्यों नहीं किया गया.''

स्क्रीन अवार्ड्स में अपनी फ़िल्म 'द डर्टी पिक्चर' के लिए कई पुरस्कार जीतने वाले निर्देशक मिलन लूथरिया ने भी अपना पक्ष रखा. मिलन ने कहा, ''आज की तारीख़ में हमारी इंडस्ट्री में कई अवार्ड दिए जाने लगे हैं. हर जूरी का नज़रिया अलग होता है. कुछ पुरस्कार समरोहों में कुछ फ़िल्में ज़्यादा पुरस्कार ले जाती हैं तो दूसरे किसी समारोह में कोई और फ़िल्म. जहां तक सलमान खान की बात है उन्होंने तो सबसे बड़ा पुरस्कार अपने नाम किया है, इस साल उन्होंने दो बार बॉक्स ऑफिस पर कमाल किया और मेरे ख्याल से इससे ज़्यादा ख़ुशी की बात उनके लिए हो ही नहीं सकती.''

स्क्रीन अवार्ड्स में शामिल हुई अभिनेत्री माही गिल भी. माही ने सलमान खान की तारीफ करते हुए कहा, ''वो तो वैसे ही सुपरस्टार हैं उनको किसी नामांकन की कोई ज़रुरत नहीं है.''

माही के ही सुर में सुर मिलाया पाकिस्तानी अभिनेता अली ज़फर ने भी. अली ज़फर का कहना था कि सलमान खान किसी भी नामांकन या पुरस्कार से बहुत ऊपर है.

संबंधित समाचार