नहीं रहे एंथनी गोंज़ाल्विस

  • 19 जनवरी 2012
एंथनी गोंज़ाल्विस इमेज कॉपीरइट pr agency
Image caption एंथनी गोंज़ाल्विस मशहूर म्यूज़िक अरेंजर थे

अमिताभ बच्चन पर फ़िल्माया गया और किशोर कुमार का गाया गीत ‘माइ नेम इज़ एंथनी गोन्ज़ाल्विस’ तो कई लोगों ने देखा ही होगा.

इस गाने के पीछे की प्रेरणा रहे संगीतकार एंथनी गोंज़ाल्विस का गोवा में निधन हो गया. वो 84 साल के थे. उनकी मृत्यु न्यूमोनिया के कारण हुई.

बहुत कम लोगों को मालूम है कि संगीतकार जोड़ी लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल ने फ़िल्म अमर अकबर एंथनी के इस मशहूर गीत ‘माइ नेम इज़ एंथनी गोज़ाल्विस’ को उन्हीं को समर्पित करते हुए संगीतबद्ध किया था.

इमेज कॉपीरइट pr agency
Image caption 'माइ नेम इज़ एंथनी गोंज़ाल्विस' गीत एंथनी गोंज़ाल्विस को समर्पित करते हुए बनाया गया था.

एंथनी गोंज़ाल्विस मशहूर संगीत निर्देशक आरडी बर्मन और लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल की जोड़ी के प्यारेलाल के गुरू थे.

वो म्यूज़िक अरेंजर थे और उन्होंने 1950 और 1960 के दशक की कई मशहूर फ़िल्मों के संगीत में योगदान दिया जिनमें महल, नया दौर और दिल-लगी उल्लेखनीय हैं.

उनकी गिनती अपने ज़माने के बेहद मशहूर वायलिन वादकों में होती थी और उन्होंने संगीतकार एसडी बर्मन के साथ काफ़ी काम किया था.

इसके अलावा उन्होंने संगीतकार अनिल बिस्वास, ग़ुलाम हैदर, सलिल चौधरी और मदन मोहन के साथ भी काम किया.

ज्योति कलश झलके, 'प्यासा' के हम आपकी आंखों में और 'महल' के आएगा आने वाले जैसे गीतों में उन्होंने म्यूज़िक अरेंजर की भूमिका निभाई. ये गाने ख़ासे मशहूर रहे.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार