ज़ीरो फ़िगर का राज़, रोज़ एक पराठा!

  • 23 जनवरी 2012
इमेज कॉपीरइट PR

फ़िल्म ‘टशन’ में करीना कपूर के ‘ज़ीरो फ़िगर’ ने बॉलीवुड में पतले होने का एक चलन शुरु किया और दुबले-पतले होने के नए पैमाने तय किए और इस फ़िगर को नाम मिला ‘साइज़ ज़ीरो’.

लेकिन कई जानकारों ने बिना ज़्यादा जानकारी के ‘ज़ीरो फ़िगर’ हासिल करने की कोशिशों को हानिकारक करार दिया.

मुंबई में करीना कपूर और करिश्मा कपूर ने फिटनेस पर एक किताब लॉन्च की.

इस मौक़े पर पत्रकारों ने सवाल किया कि क्या वो अब भी साइज़ ज़ीरो में भरोसा करती हैं, जिस पर करीना ने कहा, “वो लुक सिर्फ़ टशन फ़िल्म के लिए था. उसके बाद मैंने संतुलित खाना खाया. मैं बस स्वस्थ रहना चाहती थी.”

करीना ने कहा कि इसका मतलब ये नहीं है कि मैंने फ़िल्म 'टशन' के लुक के लिए खाना पीना छोड़ दिया था.करीना ने कहा, “टशन के समय भी मैं पराठा खाती थी.हर रोज़ एक पराठा चाहे आलू हो या गोभी.”

अपनी बहन करीना के बचाव में बड़ी बहन करिश्मा ने कहा,“साइज़ ज़ीरो सिर्फ़ एक टैग है. हम दोनों बहनें फ़िट हैं. हम कसरत करते हैं, सही खाना खाते हैं और एक स्वस्थ जीवन जीते हैं तो अगर इसकी वजह से हमारी लुक साइज़ ज़ीरो की तरह हो जाती है तो ये सिर्फ़ इसलिए हैं क्योंकि हम सही खाना खा रहे हैं.”

करिश्मा से पूछा गया कि क्या अब बॉलीवुड में साइज़ ज़ीरो नहीं बल्कि बेहतर फ़िगर का जमाना है. तो करिश्मा ने कहा, “देखिए वो किरदार की ज़रुरत थी. जैसे कि द डर्टी पिक्चर में किरदार के लिए एक अलग तरह की लुक की ज़रुरत थी. तो ये सब किरदार पर निर्भर करता है. हम तो बस एक बात जानते हैं कि फ़िट रहना ज़रुरी है.”

अपनी फिटनेस के राज़ बताते हुए कपूर बहनों ने कहा, “हम ये मानते हैं कि आप खाना खाकर भी पतले रह सकते हैं. हम सब कुछ खाते हैं. हम कम तेल के पराठे भी खाते हैं. गोभी का पराठा हमारा पसंदीदा भोजन है.”

करिश्मा युवतियों को सलाह देना भी नहीं भूली, “वो सभी लड़कियां जो करीना की तरह पतला होना चाहती हैं उन्हें संतुलित खाना खाना चाहिए. अपने आपको भूखा रखने का कोई मतलब नहीं है.”

संबंधित समाचार