समुद्र की अथाह गहराई में हॉलीवुड निर्देशक का गोता

जेम्स कैमरन इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption कैमरन मरियाना ट्रेंच में जाने वाले विश्व के दूसरे शख्स हैं.

कौतूहल, अदभूत और अपूर्व पर्दे पर कुछ ऐसी ही आकृतियां और कहानियां उकेरने के लिए मशहूर हैं हॉलीवुड निर्देशक जेम्स कैमरन. लेकिन टायटैनिक और अवतार जैसी बेहद सफल फ़िल्में बानाने वाले कैमरन अब आपको ले जाएंगे धरती के उस हिस्से में जहां पिछले 50 साल से कोई नहीं गया - मरियाना ट्रेंच

कैमरन मरियाना ट्रेंच के नीचे की दुनिया को फ़िल्माने के लिए विशेष रूप से तैयार पनडुब्बी में वहां के सफर पर हैं.

ग्यारह किलोमीटर लंबी इस 'छलांग' से पहले बीबीसी से बातचीत में कैमरन ने कहा कि धरती के सबसे गहरे हिस्से की ओर गोता लगाने की इच्छा बचपन से उनके दिल में थी.

कैमरन कहते हैं, "मैं जब छोटा था तभी से गोते लगाना मेरा शौक़ है. लेकिन मैं हमेशा सोचता था कि अगर धरती के सबसे गहरे हिस्से की ओर जाना हो तो क्या करना होगा? ये कैसे संभव होगा? आज ये मौक़ा है. मेरा सपना पूरा हो रहा है."

इस सफर के दौरान कैमरन को अपनी पनडुब्बी डीपसी चैलेंज़र में 10 घंटे तक एक भ्रूण की तरह मुड़ी हुई स्थिति में रहकर गुज़ारने होंगे.

अनुभव

कैमरन का इरादा ट्रेंच में छह घंटे बिताने का है और अगर वो ऐसा करने में सफल हो जाते हैं तो वो ऐसा करने वाले दुनिया के दूसरे इंसान होंगे.

बीबीसी के इस सवाल पर कि वो धरती की गहराई में उतर कर क्या देखने की उम्मीद लगाए हुए हैं कैमरन ने कहा "किसे पता है प्रकृति की गोद में क्या है... इस तरह की हर छलांग अपने आप में एक नई दुनिया से साक्षात्कार है. ये जादूभरा होगा. मैं एक ऐसी दुनिया में जा रहा हूं जहां इंसानों का हस्तक्षेप नहीं है. मैं वो देखूंगा जो इंसानी आंखें नहीं देख पातीं. ये अद्भुत अनुभव होगा."

जेम्स कैमरन की पिछली फ़िल्म अवतार ने भारत में रिकॉर्ड कमाई की थी.

इस बार भी जब वो विज्ञान और तकनीक के समन्वय से धरती की गोद में छिपी अनछुई-अनजानी दुनिया की तस्वीरें लेकर आएंगे तो उम्मीद है हमेशा की तरह फ़िल्म प्रेमियों को अपने हुनर से चकित कर देंगे.

संबंधित समाचार