आइटम नम्बर जैसे चुनावी वादे :दिबाकर

इमेज कॉपीरइट PR

फ़िल्म निर्देशक दिबाकर बृनर्जी ने चुनावी वादों की तुलना फ़िल्मों में इस्तेमाल होने वाले आइटम नम्बर से की है.

दिबाकर की फ़िल्म शंघाई में एक आइटम नम्बर रखा गया है जिसके बोल हैं, “इंपोर्टेड कमर”. इस आइटम नम्बर में ब्रिटिश मॉडल स्कॉर्लेट मैलिश विल्सन ठुमके लगाती हुई दिखाई देंगी.

मुंबई में इस फ़िल्म के संगीत लांच के मौके पर पत्रकारों से मुखातिब हुए दिबाकर बनर्जी से जब पूछा गया कि इस आइटम नम्बर को फ़िल्म में लेने की खास वजह क्या थी.

इसपर दिबाकर ने कहा, “ हमारे देश में राजनीति भी आइटम नम्बर पर चलती है, क्योंकि हमारी फ़िल्म में राजनीति हैं तो आइटम नम्बर होना तो जरुरी था.”

इस तर्क को सुनने के बाद हर किसी को लगा कि दिबाकर कौन से आइटम नम्बर की बात कर रहे हैं.

दिबाकर ने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा,“ राजनीति और नेताओं के लिए आइटम नम्बर बहुत ज़रुरी होते हैं. कभी शहर को शंघाई बना देना आइटम होता है तो कभी कुछ और, औऱ इन चुनावी वादों पर ही चुनाव लडे जाते हैं.”

दिबाकर कहते हैं इसी वजह से उनकी फ़िल्म के लिए आइटम नम्बर बहुत ज़रुरी था.

दिबाकर कहते हैं कि इस गाने के दौरान फ़िल्म में चल रही साजिश आगे बढ़ती है.

दिबाकर कहते हैं कि अपने प्रोडक्ट का प्रचार करना ही आइटम नम्बर हैं. राजनीति में वो चुनावी वादे हैं, किसी प्रोडक्ट के लिए वो एडवर्टाइज़िंग हैं और फ़िल्म के लिए वो आइटम नम्बर हैं.

फ़िल्म की कहानी के बारे में दिबाकर ने बताया कि ये एक छोटे से शहर की कहानी है जहां ‘एसईजे़ड' की वजह से काफी पैसा आनेवाला है. ऐसे में इस शहर में एक हादसा होता है.

ये हादसा एक वरिष्ट पुलिस अधिकारी, एक छोटा सा फोटोग्राफर और एक लड़की इन तीनों लोगों को एक साथ ले आता है.

फ़िल्म शांघाई में अभय देओल, इमरान हाश्मी और कल्कि एक साथ दिखाई देंगे.

दिबाकर की माने तो ये फ़िल्म उनके लिए कहानी और सच्चाई का एक मिलन है.

संबंधित समाचार