टाइम की महान फिल्मों की सूची में 'आवारा'

  • 28 मई 2012
राज कपूर और नर्गिस इमेज कॉपीरइट
Image caption राज कपूर और नर्गिस की फिल्म आवारा वर्ष 1951 में आई थी

टाइम पत्रिका ने राज कपूर की वर्ष 1951 की चर्चित फिल्म आवारा को सर्वकालिक महान 100 फिल्मों की सूची में शामिल किया है.

पत्रिका ने इस सूची में 20 नई फिल्मों को शामिल किया है, जिनमें आवारा भी शामिल है. टाइम पत्रिका ने वर्ष 1923 और उसके बाद बनी फिल्मों को इस सूची में जगह दी है.

टाइम के समीक्षक रिचर्ड कोरलिस ने राज कपूर को भारत के औपनिवेशिक काल के बाद सिनेमा के स्वर्णिम युग का महान सितारा कहा है.

टाइम पत्रिका ने राज कपूर की सराहना करते हुए लिखा है- पचास के दशक में जो फिल्में उन्होंने बनाई, वो न सिर्फ तुरंत आजाद हुए देश में जबरदस्त हिट हुईं, बल्कि अरब देशों से लेकर इंडोनेशिया और उत्तरी अफ्रीका में भी ये फिल्में चलीं.

बेहतरीन फिल्म

राज कपूर ने जब फिल्म आवारा बनाई थी, उस समय वे सिर्फ 26 साल के थे.

टाइम ने फिल्म आवारा को राज कपूर और खूबसूरत नर्गिस के लिए एक शानदार फिल्म बताया है

पत्रिका ने आवारा के गानों की भी सराहना की है. फिल्म आवारा का टाइटिल सांग 'आवार हूँ' काफी चला था. शंकर जयकिशन के संगीत से सजा ये गाना भारत के साथ-साथ रूस और चीन में भी खूब चला था.

टाइम पत्रिका ने वर्ष 2005 में पहली बार सर्वकालिक 100 महान फिल्मों की सूची जारी की थी, इस सूची में सत्यजीत राय की द अपु ट्रिलॉजी, मणिरत्नम की नायकन और गुरुदत्त की प्यासा को जगह मिली थी.

मणिरत्नम की फिल्म रोजा में एआर रहमान के साउंडट्रैक को 10 सर्वश्रेष्ठ साउंडट्रैक में शामिल किया गया था.

पिछले सप्ताह टाइम पत्रिका ने निर्देशक संजय लीला भंसाली की वर्ष 2002 में आई फिल्म देवदास को सहस्राब्दी की 10 महान फिल्मों में शामिल किया था.

संबंधित समाचार