ओसियान महोत्सव में 'गैंग्स ऑफ वासेपुर'-2

  • 28 जुलाई 2012
ओसियान सिनेफैन
Image caption ओसियान में भारतीय युवा निर्देशकों की वो फिल्में दिखाई जाएंगी जिन्हें अभी तक भारत में नहीं दिखाया गया है, इनमें 'पतंग' शामिल हैं.

अगर दुनिया की कोई भी भाषा आपको फिल्म देखने से नहीं रोक सकती, तो ओसियान सिनेफैन फिल्म महोत्सव जाने से भी आपको कोई नहीं रोक सकता.

27 जुलाई से शुरु हुए 12वें ओसियान सिनेफैन फिल्म महोत्सव में भारत के साथ-साथ एशिया और अरब सिनेमा की फिल्में दिखाई जाएंगी.

महोत्सव की शुरुआत जापानी फिल्म असुरा से हुई जो कि एक एनिमेशन फिल्म है.

5 अगस्त तक चलने वाले इस महोत्सव में सिनेमा में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर विचार विमर्श होगा.

ओसियान सिनेफैन के फाउंडर निवैल तुली का कहना है कि इस बार महोत्सव में बोल्ड और निर्भीक सिनेमा की बारी है.

तुली कहते हैं "इस बार ओसियान में दिखाए जाने वाले सिनेमा में खुला दिमाग, उत्तेजित विचार और ढेर सारा कोलाहल है. साथ ही संगीत और सिनेमा की जुगलबंदी भी देखने को मिलेगी".

'रोक' लगी फिल्मों की प्रदर्शनी

फिल्म समीक्षक नम्रता जोशी कहती हैं "दो साल से बंद हुआ ओसियान सिनेफैन अब वापिस शुरु हुआ है जो कि बहुत खुशी की बात है".

नम्रता मानती हैं कि, "ओसियान की अच्छी बात ये है कि उसने हमेशा से ही एशिया और अरब के बेहतरीन निर्देशकों की बेहतरीन फिल्में दिखाई हैं चाहे वो कोरियन निर्देशक किम की दुक हों या ईरानी निर्देशक देरयुश मेहर्जी हो. ओसियान ने ही एशिया और अरब के सिनेमा से हमारा परिचय करवाया है".

विश्व सिनेमा को करीब से देखने वाले फिल्म पत्रकार अर्नब बनर्जी को इस बार ओसियान में जापान की 'पिंक फिल्म' का इंतजार रहेगा.

60 के दशक में शुरु हुआ आंदोलन "पिंक फिल्म ऑफ जापान" जिसके तहत पारंपरिक सिनेमा से हटकर फिल्मों को यथार्थ से जोड़ने की कोशिश की गई . 'पिंक फिल्म' के तहत 7 जापानी फिल्में ओसियान में दिखाई जाएंगी.

साथ ही अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के थीम के तहत उन पांच फिल्मों को भी दिखाया जा रहा है जिन पर अपने समय में रोक लगा दी गई थी जिसमें जफर पनाही की "दिस इज़ नॉट ए फिल्म" सबसे महत्वपूर्ण है.

नम्रता जोशी के मुताबिक "ओसियान में भारतीय युवा निर्देशकों की वो फिल्में दिखाई जाएंगी जिन्हें अभी तक भारत में नहीं दिखाया गया है जिसमें 'बी ए पास' और 'पतंग' शामिल हैं. साथ ही भारतीय निर्देशक कैनी बासुमतेरी की फिल्म 'लोकल कुंग फू' को भी देखने का इंतजार है".

महोत्सव में अनुराग कश्यप की फिल्म 'गैंग्स ऑफ वासेपुर' का पहला और दूसरा भाग दिखाया जाएगा. इस फिल्म का दूसरा भाग सिनेमा हॉल में आठ अगस्त को रिलीज़ होगा.

संबंधित समाचार