रणबीर गांव जाना चाहते हैं

 मंगलवार, 16 अक्तूबर, 2012 को 11:44 IST तक के समाचार
रणबीर कपूर,अभिनेता

रणबीर,स्वेदस 2 में काम करना चाहते हैं

शहरी युवाओं के बीच लोकप्रिय अभिनेता रणबीर कपूर अब गांव की राह पकड़ना चाहते हैं.
रणबीर का कहना है कि अगर अच्छी कहानी मिलती है तो वो गांव की पृष्ठभूमि पर आधारित फिल्में करना चाहेंगे.

अभी तक रणबीर की ज्यादातर फिल्में जैसे वेकअप सिड,रॉकस्टार और बर्फी ने शहरी दर्शकों का दिल तो जीता है
लेकिन ग्रामीण इलाकों में उनकी फिल्में अभी भी व्यवसायिक सफलता हासिल करने में पीछे हैं.

रणबीर ने कहा "जो फिल्में मैं करता हूं या करना चाहता हूं वो एक्सपेरिमेंट नहीं है, वो अच्छी फिल्में हैं इसलिए मैं उन्हें करता हूं.
कोई अच्छी कहानी जिसका बैकड्रॉप गांव हो तो यकीनन मैं वो फिल्म करूंगा".

इस बीच रणबीर ने आशुतोष गोवारिकर की स्वेदस का भी ज़िक्र किया और कहा कि अगर स्वेदस 2 बनती है तो वो उसमें काम करना चाहेंगे.

देश घूमना चाहेंगे रणबीर

गांव भ्रमण के सवाल पर रणबीर ने कहा कि उन्हें अफसोस है कि वो भारत में बहुत ज्यादा घूमे नहीं है जबकि देश में इतना कुछ देखने और करने के लिए है.

रणबीर के मुताबिक "हम अपने करियर में इतने घुस जाते हैं कि और जरुरी बातों पर ध्यान ही नहीं जाता. पर यकीनन मौका मिलने पर मैं देश घूमना चाहूंगा.

"दूसरों पर उंगली उठाने से अच्छा है कि हम खुद ही कुछ बदलाव लाने की कोशिश करें. एक छोटा सा कदम भी समाज में बदलाव ला सकता है."

रणबीर कपूर,अभिनेता

हालांकि मैं कहने से ज्यादा करने में विश्वास रखता हूं".

देश के मौजूदा हालातों पर बात करते हुए रणबीर ने कहा कि दोषारोपण करने से अच्छा है कि बदलाव के लिए कुछ किया जाए.

रणबीर कहते हैं "दूसरों पर उंगली उठाने से अच्छा है कि हम खुद ही कुछ बदलाव लाने की कोशिश करें. एक छोटा सा कदम भी समाज में बदलाव ला सकता है".

रणबीर कपूर की हालिया रिलीज फिल्म 'बर्फी' को भारत की तरफ से ऑस्कर के सर्वश्रेष्ठ विदेशी फिल्म की श्रेणी के लिए भेजा गया है.

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.