यशजी की फिल्म का ठप्पा चाहिए था:कटरीना

 गुरुवार, 8 नवंबर, 2012 को 12:40 IST तक के समाचार
जब तक है जान

फिल्म जब तक है जान में कटरीना कैफ ने पहली बार यश चोपड़ा के निर्देशन में काम किया

हीरोइन बनना और यश चोपड़ा की फिल्म में बतौर हीरोइन काम करना दोनों ही अलग-अलग बातें है.
ऐसा कटरीना कैफ का कहना है जो निर्देशक यश चोपड़ा की आखिरी फिल्म 'जब तक है जान' में बतौर हीरोइन दिखाई दे रही है.

कटरीना के मुताबिक "मैं इंडस्ट्री में बाहर से आई हूं इसलिए मेरे लिए बहुत ज़रुरी भी था कि मैं यश चोपड़ा की फिल्म में काम करूं.

उनकी फिल्म में काम करना एक ठप्पे की तरह है जो ये दिखाता है कि इंडस्ट्री ने आपको स्वीकार कर लिया है."

"जब मैंने यशजी की वीर ज़ारा देखी थी और उसके एक सीन में शाहरुख प्रीति को गोद में उठाकर पुल पार करवाता है तब मैंने अपनी दोस्त से कहा था कि मैं भी यशजी की फिल्म में हीरोइन बनना चाहती हुँ"

कटरीना कैफ,अभिनेत्री

कटरीना कहती हैं "जब मैंने यशजी की वीर ज़ारा देखी थी और उसके एक सीन में शाहरुख प्रीति को गोद में उठाकर
पुल पार करवाता है. तब मैंने अपनी दोस्त से कहा था कि मैं भी यशजी की फिल्म में हीरोइन बनना चाहती हुँ."

कटरीना का ये सपना तब पूरा हुआ जब उनके पास यश चोपड़ा का फोन आया.

कटरीना बताती हैं 'ये बात तीन साल से सबको पता थी कि यशजी फिल्म बनाने का सोच रहे हैं और मुझे लगा कि शायद यही मौका है मेरे लिए.

फिर एक दिन यशजी का फोन आया. उन्होंने कहा कि बेटा क्या तुम मेरी फिल्म में काम करोगी और मैंने बिना वक्त लिए कह दिया हां.'

ये पहली बार नहीं है कि कटरीना यशराज बैनर के लिए फिल्म कर रही हैं.
इससे पहले कटरीना ने यशराज की न्यू यॉर्क,मेरे ब्रदर की दुल्हन और एक था टाइगर में भी अभिनय किया है.

पर यश चोपड़ा के निर्देशन में जब तक है जान ही कटरीना की पहली फिल्म हैं.

हालांकि फिल्म की रिलीज से एक महीना पहले ही यश चोपड़ा का देहांत हो गया.

फिल्म में कटरीना के साथ शाहरुख खान और अनुष्का शर्मा भी मुख्य भूमिका में है.

जब तक है जान 13 नवंबर को रिलीज हो रही है.

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.