सन ऑफ़ सरदार - आर या पार?

 मंगलवार, 13 नवंबर, 2012 को 11:10 IST तक के समाचार
सन ऑफ़ सरदार

जब भी कोई बॉलीवुड फिल्म पंजाब की पृष्ठभूमि पर आधारित होती है तो उसमें मनोरंजन के नाम पर सिर्फ सरसों के लहलहाते खेत, फूहड़ मज़ाक करते किरदार और भांगड़ा-गिद्दा करते नौजवान ही क्यों पाए जाते हैं? क्या इन उपरी बातों में ही सिमट कर रह गई है पंजाब की संस्कृति. ‘सन ऑफ़ सरदार’ भी इन सभी बातों का मिश्रण है.

अश्वनी धीर द्वारा निर्देशित इस फिल्म में कहने के लिए क्या नहीं है. अजय देवगन और संजय दत्त जैसे बड़े स्टार. सोनाक्षी सिन्हा और जूही चावला जैसी खूबसूरत अभिनेत्रियां. यहां तक कि सलमान खान की एक छोटी सी भूमिका भी. लेकिन फिर भी ये फिल्म आपका मनोरंजन करने में असफल रहती है. कारण न तो कहानी में कुछ नयापन है और न ही हास्य में.

स्लैपस्टिक ह्यूमर

सन ऑफ़ सरदार

सलमान ने फिल्म में एक छोटी सी भूमिका की है.

फिल्मों में एक ही तरह के हास्य को देखते देखते हम तो बड़े हो गए लेकिन हमारे फिल्मकार अभी तक बड़े नहीं हुए हैं. शायद इसीलिए आज भी कई फिल्में कॉमेडी के नाम पर सिर्फ 'स्लैपस्टिक ह्यूमर' प्रदान करती हैं.

'सन ऑफ़ सरदार' को शायद लोग इसिलए ज़्यादा याद रखें क्योंकि फिल्म के अभिनेता अजय देवगन ने कम सिनेमाघर मिलने के कारण यशराज फिल्म्स पर धावा बोला था. मात्र फिल्म के तौर पर 'सन ऑफ़ सरदार' को याद रख पाना तो मुझे ज़रा मुश्किल ही लगता है.

अजय देवगन की 'गोलमाल सीरीज' में भी 'स्लैपस्टिक ह्यूमर' रहा है, तो कला के इस अंदाज़ से भली-भांति अवगत हैं वो. लेकिन फिर भी 'सन ऑफ़ सरदार' में उनका अभिनय कोई असर नहीं छोड़ता. अब इसमें सारा दोष अजय का है या फिर उसका जिसने फिल्म की कहानी लिखी है.

रोमांटिक कॉमेडी, एक्शन के सहारे!

सन ऑफ़ सरदार

  • कलाकार: अजय देवगन, संजय दत्त, सोनाक्षी सिन्हा, जूही चावला, तनूजा
  • निर्देशक: अश्वनी धीर
  • रेटिंग: **

मुझे तो लगता है कि फिल्म की स्क्रिप्ट लिखने वाले रोबिन भट्ट और निर्देशक अश्वनी धीर ने ये सोच कर कहानी गढ़ि कि और कुछ नहीं तो भई लोग अजय देवगन के एक्शन के ही मुरीद हो जाएंगे. लेकिन अगर फिल्म एक रोमांटिक कॉमेडी हो तो उसे एक्शन के सहारे कैसे खीचा जा सकता है.

फिल्म के संगीत की अगर बात करें तो हिमेश रेशमियां के चंद गीत गुनगुनाने लायक हैं. हालांकि मेरी आपत्ति राहत फ़तेह अली खान की दमदार लेकिन महीन आवाज़ से है जो अजय देवगन को सूट नहीं करती.

सन ऑफ़ सरदार

क्या बॉक्स ऑफिस पर खरी उतरेगी ये फिल्म.

सोनाक्षी सिन्हा की अगर बात करें तो बिहार से होने के बावजूद उन्होंने एक पंजाबी युवती के किरदार को सटीकता से निभाने के अच्छी कोशिश की है और वो इसमें काफी हद तक सफल भी हुई हैं.

फिल्म में संजय दत्त के किरदार में भी कॉमेडी, एक्शन और इमोशन हर तरह के रंग देखने को मिल जाते हैं. बीते वर्षों की अभिनेत्री और अजय देवगन की सास तनूजा भी फिल्म में हैं.

फिल्म मुझे कुछ खास प्रभावित नहीं कर पाई. मैं तो उस दिन के इंतज़ार में हूं जब फिल्मकार पंजाब को गंभीरता से लेते हुए पंजाब की पृष्ठभूमि पर आधारित कोई बढ़िया और रीयलिस्टिक फिल्म बनाएंगे.

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.