क्या महानतम फिल्मों में से एक है बर्फी ?

 बुधवार, 21 नवंबर, 2012 को 11:48 IST तक के समाचार

'बर्फी' को गोवा फिल्म समारोह में भारतीय सिनेमा की 28 सर्वश्रेष्ठ फिल्मों में चुना गया.

अनुराग बासु की फिल्म बर्फी ने अपने अलग विषय और प्रस्तुतिकरण की वजह से पहले तो काफी तारीफ पाई लेकिन बाद में एक के बाद उसका नाम विवादों में आता चला गया.

पहले तो आरोप लगा कि ये फिल्म मौलिक नहीं है और कई विदेशी फिल्मों का घालमेल है.यहां तक की इसकी कहानी भी 'ओरिजिनल' नहीं है.

फिर इस फिल्म को जब इस साल ऑस्कर में सर्वश्रेष्ठ विदेशी भाषा की श्रेणी में भारत की ओर से भेजा गया. तब भी इस फैसले के खिलाफ आवाज़ें उठीं.

लोगों ने कहा कि किसी मौलिक फिल्म को ही ऑस्कर में भेजा जाना चाहिए था.

अब 20 नवंबर से शुरू हुए 43वें भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में बर्फी को भारतीय सिनेमा की 28 महानतम फिल्मों में चुना गया है.

"मैं अपने आपको भाग्यशाली मानता हूं कि मेरी फिल्म को ये सम्मान मिला. लेकिन मुझे लगता है कि बर्फी से भी ज़्यादा अच्छी और महान फिल्में हैं. मुझे नहीं लगता कि मेरी फिल्म इस सम्मान की हक़दार थी."

अनुराग बासु, बर्फी के निर्देशक

इन फिल्मों को भारतीय सिनेमा के 100 साल पूरे होने के जश्न के तौर पर समारोह में दिखाया जाएगा. और इस बात से फिल्म के निर्देशक अनुराग बासु भी हैरान हैं.

बीबीसी से बात करते हुए अनुराग कहते हैं, "हालांकि मैं बहुत खुश हूं और अपने आपको भाग्यशाली मानता हूं कि मेरी फिल्म को ये सम्मान मिला. लेकिन मुझे लगता है कि बरफी से भी ज़्यादा अच्छी और महान फिल्में हैं. मुझे नहीं लगता कि मेरी फिल्म इस सम्मान की हक़दार थी."

इस सूची में राजा हरिश्चंद्र, अछूत कन्या, प्यासा, आवारा, मुग़ल-ए-आज़म, मदर इंडिया, शोले और लगान जैसी फिल्में शामिल हैं.

गोवा में साल 2012 के भारतीय अंतरराष्ट्रीय समारोह की शुरूआत एंग ली की फिल्म लाइफ ऑफ पाई से हुई. इस फिल्म में दिल्ली के रहने वाले सूरज शर्मा ने केंद्रीय भूमिका निभाई है. इरफान और तब्बू की भी फिल्म में अहम भूमिकाएं हैं.

उद्घाटन समारोह के मुख्य अतिथि अभिनेता अक्षय कुमार थे.

इस महोत्सव में सिनेमा के उन दिग्गज लोगों को भी श्रद्धांजलि दी जाएगी जो इस साल दुनिया से विदा हो गए.

यश चोपड़ा की 'धूल का फूल', दारा सिंह की 'सिकंदर-ए-आज़म', राजेश खन्ना की 'आनंद', जॉय मुखर्जी की 'लव इन टोक्यो' और ए के हंगल की 'गुड्डी' दिखाई जाएंगीं.

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.