सलमान: दो टूक बोलते हैं या कड़वा?

 गुरुवार, 27 दिसंबर, 2012 को 10:11 IST तक के समाचार
सलमान खान, अभिनेता

अगर आप फिल्म वालों की चिकनी-चुपड़ी बातें और हर अलग सवाल पर उनके एक जैसे जवाबों को सुनकर थक चुके हैं तो सलमान खान को सुन लीजिए.

जितने दबंग वो अपनी फिल्मों में दिखाई देते हैं, उतने ही दबंग तरीके से बात करने के लिए भी जाने जाते हैं.

अपने 47वें जन्मदिन के कुछ दिन पहले जब उनसे ये सवाल किया गया कि वो इस मौके पर मीडिया को क्यों नहीं बुलाते, तो सलमान का जवाब था, "मुझसे ये सब फ्रॉडगिरी नहीं होती."

इस पर जब एक मीडियाकर्मी ने कहा कि हम 11 बजे केक लेकर आ जाएं तो सलमान ने कहा, "वो सब नहीं होगा मुझसे और जो नहीं होगा, वो मैं सीधे सीधे बोल दूंगा. मेरी मां इस बात का पूरा ध्यान रखेंगी कि आप लोगों की पार्टी बाहर ही हो ना कि मेरे घर के अंदर."

सलमान का ये बात करने का सीधा-सीधा तरीका कुछ नया नहीं है.

साल 2011 में एक निजी टीवी चैनल को दिए साक्षात्कार के दौरान सलमान से पूछा गया था कि आप कभी हंसते क्यों नहीं है, इतने सीरियस क्यों रहते हैं.

इस पर सलमान बोले, ''मैं अपने दोस्तों के साथ हंसता-मुस्कुराता हूं.''

पत्रकार ने कहा- तो क्या मैं आपका दोस्त नहीं हूं? सलमान का जवाब था - अगला सवाल!

'कड़वा बोलते हैं'

"टीवी पत्रकार- आप कभी हंसते क्यों नहीं है? सलमान- मैं अपने दोस्तों के साथ हंसता-मुस्कुराता हूं. पत्रकार- तो क्या मैं आपका दोस्त नहीं हूं? सलमान - अगला सवाल !"

सलमान के इस दो टूक जवाब के शिकार सिर्फ पत्रकार नहीं जनता भी हुई है.

एक और निजी चैनल के शो में सलमान खान आए. वहां मौजूद एक दर्शक ने पूछा कि इतनी उम्र के बावजूद भी आप इतने युवा लगते हैं, मैं तो आपसे आधी उम्र का हूं, मैं आप जैसा क्यों नहीं लगता? सलमान ने कहा- क्योंकि तू थका हुआ है.

यही नहीं सलमान अपनी महिला मित्रों के साथ कथित बुरे रवैये के लिए भी चर्चित रहे हैं. बावजूद इसके उनके प्रशंसकों की भीड़ में कमी नहीं देखी गई है.

इस बारे में 'इमेज गुरु' दिलीप चेरियन कहते हैं "सलमान में एक मासूमियत है जो महिला प्रशंसकों को काफी अच्छी लगती है. वो बिना सोचे और बिना संकोच के दिल की बात बोल देते हैं जिससे उनका फायदा भी होता है. पर कभी-कभी उनके लिए बात बिगड़ भी जाती है."

दिलीप के अनुसार, "सलमान कड़वा बोलते हैं क्योंकि उनके दो रूप नहीं है. वो जो आपको दिखता है वो वैसा ही है."

वहीं 'एड गुरु' प्रहलाद कक्कड़ का कहना है, "सलमान में पहले से ज़्यादा आत्मविश्वास आ गया है. पहले वो अपनी बात धीरे से बोलता था, अब ज़ोर से बोलता है. पहले वो जूनियर दबंग था, अब दबंग है."

देखते हैं सलमान का ये 'ऑफ स्क्रीन दबंग' अवतार कब तक उनके सितारे बुलंद रखता है या फिर कहीं ऐसा तो नहीं कि जब तक सितारे बुलंद हैं तब तक ही वो दबंग हैं.

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.