जब मिलेंगे अमिताभ और लता के सुर-ताल!

  • 16 जनवरी 2013
लता मंगेश्कर,पार्श्वगायिका
Image caption लता मंगेश्कर के मुताबिक नए गायकों को प्रोत्साहन मिलना चाहिए.

स्वर सामाज्ञी कही जाने वाली लता मंगेशकर और फिल्मों के महानायक अमिताभ बच्चन बहुत जल्द सुर में सुर मिलाने वाले हैं. ये बात अपने म्युज़िक लेबल की लॉन्च पर खुद लता मंगेश्कर ने कही.

लता ने कहा "मैं अमितजी से विनती करती हूं कि वो मुझे अपने पिताजी की कुछ कविताएं खुद चुनकर दें तो मैं उन्हें रिकॉर्ड करना पसंद करूंगी. वैसे आप बहुत जल्द सुनेंगे मैं और अमिताभ जी भी साथ गाना गाएंगे."

70 साल से फिल्मों में पार्श्वगायन करने के अनुभव पर लता कहती हैं, "मैं बहुत खुश हूं कि इतने साल से काम कर रही हूं. आजकल मैं फिल्मों में कम काम कर रही हूं. पर 70 साल हो गए हैं. लोग तंग हो जाए, उससे पहले छोड़ना अच्छा होता है."

अपने म्यूज़िक लेबल के बारे में लता ने कहा "मैं चाहूंगी कि जो नए बच्चे आते हैं उन्हें गाने का मौका मिले और मुझे लगता है अमितजी मेरी इस बात से सहमत होंगे."

'लता-लता-लता जपेंगे'

इस मौके पर जाने माने शास्त्रीय संगीतकार पंडित जसराज ने लता के बारे में कहा "हम राम राम कृष्ण कृष्ण जपते हैं. थोड़े दिनों में देखिएगा लता-लता-लता होने लगेगा."

उन्होंने बताया "एक दफा मैंने लता जी को बैठने के लिए कहा तो वो बोलीं, कहां बैठूं आपके सिर पर? तो मैंने कहा वो तो आप बैठी हुई हैं, उसमें कोई नई बात नहीं है."

जसराज के अनुसार "मैं कभी कभी सोचता हूं, यार कमाल है. हम एक शिष्य को बुलाते हैं, उसको सिखाने की कोशिश करते हैं. यहां लताजी से तो पूरी दुनिया ऐसे ही सीखती रहती है. चार पीढ़ियों की गुरु बनना कोई मामूली बात नहीं है."

लता मंगेश्कर के म्यूज़िक लेबल 'एलएम' के तहत 6 एलबमों का विमोचन हुआ जिसमें एक एलबम का निवेदन अमिताभ बच्चन ने किया है.

संबंधित समाचार