साल के अंत में शुरु हो सकती है 'मुन्नाभाई'?

अरशद वारसी,अभिनेता
Image caption मुन्नाभाई एमबीबीएस और लगे रहो मुन्नाभाई में अरशद ने सर्किट का रोल निभाया

'मुन्नाभाई जैसी फिल्म बंद नहीं हो सकती' अपने करियर में सर्किट का यादगार रोल निभाने वाले अरशद वारसी कुछ ऐसी ही उम्मीद रखते हैं.

बीबीसी से बातचीत के दौरान अरशद ने कहा "फिल्म की स्क्रिप्ट तैयार है, फिल्म बंद नहीं हुई है. पूरी संभावना है कि फिल्म की शूटिंग साल के अंत में या अगले साल शुरु हो जाए."

अरशद का कहना है "विनोद, संजू, राजू हममें से कोई नही चाहता कि ये फिल्म ना बने. हिंदुस्तान की अवाम चाहती है कि ये फिल्म बने और जब इतने सारे लोग किसी चीज़ को इतना चाहते हैं तो उसका बंद होना मुश्किल है."

हालांकि एक अख़बार को दिए एक साक्षात्कार में मुन्नाभाई श्रृंखला के निर्देशक राजकुमार हिरानी ने कहा है कि अगर मुन्नाभाई के तीसरे भाग की स्क्रिप्ट पहली दो फिल्मों से अच्छी नहीं बनी तो वह इसे कभी नहीं बनाएंगे.

वहीं अरशद के मुताबिक उन्हें खुद से ज़्यादा लोगों के लिए बुरा लगता है जो मुन्नाभाई का बेसब्री से इंतज़ार कर रहे हैं और अगर ये फिल्म बनती तो अच्छा होता.

कभी कोर्ट नहीं गया

अरशद की आने वाली फिल्म ज़िला गाज़ियाबाद है जिसे लेकर कुछ वर्ग द्वारा आपत्ति दर्ज की गई है कि शहर का चित्रण गलत ढंग से किया गया है. फिल्म में विलेन का रोल निभा रहे अरशद कहते हैं "मैं कभी गया नहीं हूं गाज़ियाबाद, मुझे इस जगह के बारे में कुछ पता नहीं है. मुझे तो लगता है वहां के लोगों को खुश होना चाहिए कि इस फिल्म के बाद उनका शहर प्रसिद्ध हो जाएगा."

इसके अलावा फिल्म 'जॉली एलएलबी' में भी अरशद एक संघर्षरत वकील का रोल निभा रहे हैं. अरशद ने कहा "अपने पूरे जीवन में मैंने कोर्ट कचहरी के चक्कर नहीं लगाए हैं. मुझे ये भी नहीं पता था कि कोर्ट में कटघरा तो होता ही नहीं है. ये सब फिल्मों में होता है. ये फिल्म करते हुए मैंने कोर्ट के बारे में काफी कुछ जाना."

अरशद कहते हैं, "इस फिल्म के बाद जो मैंने कोर्ट की हालत देखी है उसके बाद तो मैं कभी नहीं चाहूंगा कि कोर्ट जाऊं."

जॉली एलएलबी का निर्देशक सुभाष कपूर ने किया है जिन्होंने इससे पहले 'फंस गए रे ओबामा' भी बनाई थी. फिल्म में अरशद के साथ बमन ईरानी भी अहम रोल में हैं.

15 मार्च को फिल्म रिलीज़ होगी.

संबंधित समाचार